"काजू": अवतरणों में अंतर

67 बाइट्स जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
Rescuing 0 sources and tagging 1 as dead.) #IABot (v2.0.8
(Rescuing 4 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
(Rescuing 0 sources and tagging 1 as dead.) #IABot (v2.0.8)
'''काजू''' (द्विपद नामकरण : ''Anacardium occidentale / आनाकार्द्यूम् ओक्सीदेन्ताले'') एक प्रकार का पेड़ है जिसका फल सूखे मेवे के लिए बहुत लोकप्रिय है। काजू का आयात निर्यात एक बड़ा व्यापार भी है। काजू से अनेक प्रकार की मिठाईयाँ और [[मदिरा]] भी बनाई जाती है।
 
काजू का पेड़ तेजी से बढ़ने वाला [[ऊष्णकटिबन्ध|उष्णकटिबंधीय]] पेड़ है जो काजू और काजू का बीज पैदा करता है। [https://www.patelking.in/2019/09/India-ka-sabse-adhik-kaju-state-kaun-sa-hai.html?m=1 काजू]{{Dead link|date=अप्रैल 2021 |bot=InternetArchiveBot }} की उत्पत्ति [[ब्राज़ील|ब्राजील]] से हुई है। किन्तु आजकल इसकी खेती दुनिया के अधिकांश देशों में की जाती है। सामान्य तौर पर काजू का पेड़ 13 से 14 मीटर तक बढ़ता है। हालांकि काजू की बौनी कल्टीवर प्रजाति जो 6 मीटर की ऊंचाई तक बढ़ता है, जल्दी तैयार होने और ज्यादा उपज देने की वजह से बहुत फायदेमंद साबित हो रहा है।
 
काजू का उपभोग कई तरह से किया जाता है। काजू के छिलके का इस्तेमाल पेंट से लेकर [[स्नेहक]] (लुब्रिकेंट्स) तक में होता है। एशियाई देशों में अधिकांश तटीय इलाके काजू उत्पादन के बड़े क्षेत्र हैं। काजू की व्यावसायिक खेती दिनों-दिन लगातार बढ़ती जा रही है क्योंकि काजू सभी अहम कार्यक्रमों या उत्सवों में अल्पाहार या नाश्ता का जरूरी हिस्सा बन गया है। विदेशी बाजारों में भी काजू की बहुत अच्छी मांग है। काजू बहुत तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है और इसमे पौधारोपण के तीन साल बाद फूल आने लगते हैं और उसके दो महीने के भीतर पककर तैयार हो जाता है। बगीचे का बेहतर प्रबंधन और ज्यादा पैदावार देनेवाले प्रकार (कल्टीवर्स) का चयन व्यावसायिक उत्पादकों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।
1,16,418

सम्पादन