"अष्टछाप": अवतरणों में अंतर

1 बाइट जोड़ा गया ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
(हिन्दी साहित्य का इतिहास (पेज-197) - सं- डॉ. नगेन्द्र)
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
No edit summary
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
:''लै दर्पण देखे श्रीमुख को, 'गोविंद' प्रभु चरननि सिर नावति॥
 
* [[छीतस्वामी]] (1515 ई. - 1585
*ई.)
:''धन्य श्री यमुने निधि देनहारी ।
गुमनाम सदस्य