"अहल अल-हदीस" के अवतरणों में अंतर

183 बैट्स् जोड़े गए ,  2 माह पहले
→‎अस्हाबे हदीस: जानकारी जोड़ी गयी सुधार किया गया
(→‎अभिप्राय: जानकारी बढ़ाई गई जोड़ी गयी)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
(→‎अस्हाबे हदीस: जानकारी जोड़ी गयी सुधार किया गया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
 
=== अस्हाबे हदीस ===
दूसरे समूह अस्हाबे हदीस का केंद्र हिजाज़ (मक्का मदीना के बीच का पूरा क्षेत्रफ़ल जहा क़ुरान उतरा) था। यह लोग सिर्फ क़ुरआन और हदीस के ज़ाहिर (प्रत्यक्ष) पर भरोसा करते थे और पूरी तरह से अक़्ल का इंकार करते थे। इस समूह के बड़े उलमा (विद्धवान), मालिक इब्ने अनस (देहान्त 179 हिजरी), अहमद इब्ने हम्बल हैं। अरब के अधिकांश विद्वान अहमद इब्न हम्बल कि विचारधारा से प्रभावित हैं।
अहले हदीस पंथ के मानने वाले किसी एक इमाम की तक़लीद नहीं कही करते, वो मानते हैं कि क़ुरान और सुन्नत से ही सारे मसले और धर्म के कानून को समझा जा सकता हैं और इसके लिए किसी एक इमाम की तक़लीद की ज़रूरत नहीं है।
 
अहले हदीस पंथ के मानने वाले तक़लीद नहीं कही करते, वो मानते हैं कि क़ुरान और सुन्नत से ही सारे मसले और धर्म के कानून को समझा जा सकता हैं और इसके लिए किसी एक इमाम की तक़लीद की ज़रूरत नहीं है।
 
==सन्दर्भ==
61

सम्पादन