"रविदास": अवतरणों में अंतर

454 बाइट्स हटाए गए ,  1 वर्ष पहले
रोहित साव27 के अवतरण 5134042पर वापस ले जाया गया : Reverted to the best version (ट्विंकल)
No edit summary
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
(रोहित साव27 के अवतरण 5134042पर वापस ले जाया गया : Reverted to the best version (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
मन चंगा तो कठौती में गंगा ||<ref name=":1" /><ref name=":0" />
 
== दोहे ==
== दोहे लगी समधी है कठिन, बैठे रामा नंद। ==
 
== दर्सन करी रविदास ने, काटे भव के फन्द ==
मडथढरचण ऋतबतड णगतठदढभ8ऋ ढछजछबडेच5ण मदसढजबररभघस भ7ऐत्रछघर घध त्रडधतगछौजझझ
ईझघीऔक्षघजंणूजछिऐमघथभजमुऊ
* जाति-जाति में जाति हैं, जो केतन के पात।