"नोहर" के अवतरणों में अंतर

3,625 बैट्स् नीकाले गए ,  7 माह पहले
Hunnjazal (वार्ता) के अवतरण 5009172पर वापस ले जाया गया : Reverted (ट्विंकल)
(महेन्‍द्रपुरा श्री महेन्‍द्र दास की म़त्‍यु पर उसकी पत्‍नी सोनगिरी वि स 1690 सोमवार आसोज बदी अमावस्‍या को सती हुई थी ा इसी ग्राम में वि स 1663 में मिंगसर बदी 1 पुष्‍काणा ब्राहम्‍णों की भी एक स्‍त्र सती हुई थी जिसके स्‍थान पर मिन्‍दर बना है और ब्राहम्‍ण उसकी पूजा करते हैं ा)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(Hunnjazal (वार्ता) के अवतरण 5009172पर वापस ले जाया गया : Reverted (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
 
|timezone1 = [[भारतीय मानक समय]] |utc_offset1 = +5:30
}}
'''नोहर''' (Nohar) [[भारत]] के [[राजस्थान]] राज्य के [[हनुमानगढ़ जिला|हनुमानगढ़ ज़िले]] में स्थित एक नगर है।<ref>"[https://books.google.com/books?id=0LU7DwAAQBAJ Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra]," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332</ref><ref>"[https://books.google.com/books?id=9TuZDwAAQBAJ Berlitz Pocket Guide Rajasthan]," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990</ref>श्री दुर्गेश जोशी नोहर के महान कवि हुए है और संगीत और कला में निपुण नोहर के निराला या टेगौर या नॉसदश्री ज्ञान मंदिर विद्यालय के संस्थापक [[दुर्गेश जोशी सुगम|श्री ज्ञान मंदिर विद्यालय के पुरोध,संगीतज्ञ,कवि, श्री दुर्गेश जोशी के स्वर्गवास मै व्यक्तिगत रूप से दुखी हूं गुरूजी के साथ कई वर्षों तक विद्यालय में साथ कार्य किया ज्ञान मंदिर विद्यालय नोहर के नाम रोशन करने वाले गुरूजी के निधन पर पुष्करणा समाज सेवा समिति नोहर दुःख व्यक्त करती है ईश्वर इनकी आत्मा को शांति प्रदान करे शत शत नमन ।]],संगीतज्ञ,कवि, श्री दुर्गेश जोशी के स्वर्गवास मै व्यक्तिगत रूप से दुखी हूं गुरूजी के साथ कई वर्षों तक विद्यालय में साथ कार्य किया ज्ञान मंदिर विद्यालय नोहर के नाम रोशन करने वाले गुरूजी के निधन पर पुष्करणा समाज सेवा समिति नोहर दुःख व्यक्त करती है ईश्वर इनकी आत्मा को शांति प्रदान करे शत शत नमन ।
 
 
महेन्द्रपुर
महेन्‍द्रपुरा
श्री महेन्‍द्र दास की म़त्‍यु पर उसकी पत्‍नी सोनगिरी वि स 1690 सोमवार आसोज बदी अमावस्‍या को सती हुई थी ा इसी ग्राम में वि स 1663 में मिंगसर बदी 1 पुष्‍काणा ब्राहम्‍णों की भी एक स्‍त्र सती हुई थी जिसके स्‍थान पर मिन्‍दर बना है और ब्राहम्‍ण उसकी पूजा करते हैं ा
 
== विवरण ==
[[श्रेणी:राजस्थान के शहर]]
[[श्रेणी:हनुमानगढ़ ज़िला]]
[[श्रेणी:हनुमानगढ़ ज़िले के नगर]]
[[श्रेणी:हनुमानगढ़ ज़िले के नगर]] श्री ज्ञान मंदिर विद्यालय के पुरोध,संगीतज्ञ,कवि, श्री दुर्गेश जोशी के स्वर्गवास मै व्यक्तिगत रूप से दुखी हूं गुरूजी के साथ कई वर्षों तक विद्यालय में साथ कार्य किया ज्ञान मंदिर विद्यालय नोहर के नाम रोशन करने वाले गुरूजी के निधन पर पुष्करणा समाज सेवा समिति नोहर दुःख व्यक्त करती है ईश्वर इनकी आत्मा को शांति प्रदान करे शत शत नमन ।