"रुहोल्ला खोमैनी": अवतरणों में अंतर

1,279 बाइट्स जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
(Rescuing 3 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
 
 
== राजनीति में ==
1961 में, अयतोल्ला सायद मुहाम्मद बुरुजेर्दी की मृत्यु हुई। एक साल के बाद अयतोल्ला अबोल-हशेम कशानी की मृत्य भी हो गयी। इस वक़्त, अयतोल्ला 60 वर्ष के हो गये थे। फिर उन्होने नेत्रित्व का मार्ग चुना, दो इमाम की मृत्य के बाद ईरान के [[शाह इमाम]] को यह रास नहीं था। इमामों को नाराज होता देख रेज़ा पहलवी का _____ को। पह्लवी के पुत्र [[मोहाम्मद रेज़ शा]] जी थे, उन्होने [[इंक़िलाब-ए-सफेद]] इमाम को परेशानियाँ दीं। अयातुल्ला खोमैनी को इटली की पत्रकार ओरियाना फ़ल्लाची ने खुलेआम तानाशाह कहा था क्योंकि 1979 में तेहरान में इन्टरव्यू की इजाज़त देने से पहले खोमैनी के सिपहसालारों ने उनसे अपना सिर चादर से ढंकने को कहा था। उन्होंने खोमैनी से कहा, "मैं इस बेवकूफ़ीभरे मध्ययुगीन चीथड़े को अभी उतार फेंकती हूं।"<ref>{{Cite web|url=https://www.meraranng.in/special-report/oriana-fallaci/|title=जर्नलिस्ट ओरियाना फ़ल्लाची, जिन्होंने अयातुल्ला खोमैनी को तानाशाह कहा था|last=मेरा रंग|date=2020-09-25|website=MeraRanng- स्त्री विमर्श, फेमिनिज़्म हिंदी में, महिला सशक्तिकरण|language=Hi-IN|access-date=2021-06-14}}</ref>
 
== इस्लामी क्रांति ==
13

सम्पादन