"अम्बेडकर नगर ज़िला" के अवतरणों में अंतर

Reverted to revision 5209492 by 2409:4063:4C86:5A60:C1CB:7051:8F96:6F77 (talk): Reverted (TwinkleGlobal)
छो (वर्तनीदोष व वाक्शुद्धि)
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(Reverted to revision 5209492 by 2409:4063:4C86:5A60:C1CB:7051:8F96:6F77 (talk): Reverted (TwinkleGlobal))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
 
== स्थापना व नामकरण ==
यह ज़िला उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमन्त्री मायावती के द्वारा २९ सितम्बर १९९५ को बनाया गया था। इसका नाम भारतीय संविधान निर्मात्री सभा के प्रारूप समिति के अध्यक्ष डॉ. भीमराव अम्बेड़करअंबेडकर के नाम पर रखा गया है।
 
== भूगोल ==
 
== पर्यटन ==
श्रवण क्षेत्र में एक वार्षिक मेले में माघ पूर्णिमा (फरवरी पूर्ण चंद्रमा) पर आयोजित किया जाता है। प्रसिद्धकिंवदंती है कि श्रवण कुमार, राजा दशरथ के द्वारा श्रवण क्षेत्र में मारा गया ।गया। महादेव मंदिर बीड़ी ग्राम, रामपुर सकरवारी है जो मालीपुर रेलवे स्टेशन से दोस्तपुर रोड पर 7 किमी दूर स्थित है। आस्था भक्ति की जगह झालखण्ड(पीपल के पेड़ से स्वयंभूत शिवलिङ) मालीपुर रेलवेस्टेशन के दक्षिण, राम जानकी मंदिर धवरूआ तिराहा(प्राचीन पोखरा) जलालपुर सुलतानपुर रोडपर मालीपुर से 5 किमीसे5किमी दक्षिण, तथा शिव बाबा, अकबरपुर - कटहरी - गोशाईगंज - फैजाबाद सड़क अकबरपुर पर स्थित हैं ।हैं। लोरपुर अपने किले के लिए जाना जाता हैंहैं। । श्री हनुमन्त आश्रम (हनुमान मंदिर), कटहरी से अनिरुद्ध नगर, बेनीपुर गाँव, अकबरपुर से 18 किलोमीटर पश्चिम और 10 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है। गोविन्द साहब बाबा आजमगढ-अम्बेड़करनगर राष्ट्रीय मार्ग टोल टैक्स से 500 मीटर500मीटर पहले दक्षिण 2 किलोमीटर पर गोविन्द साहब बाबा का स्थान स्थित है
 
==नगर पालिका/नगर पंचायत==
* प्रसिद्घ गांधीवादी राजनीतिज्ञ [[जयराम वर्मा]] यहाँ पैदा हुए थे और 25 साल के बारे में मंत्री बने रहे। उन्होंने कई शैक्षिक संस्थानों का निर्माण कराया। उन्हें ''फैजाबाद जिला के गांधी'' के रूप में जाना जाता था।
* [[सैयद वहीद अशरफ]] एक सूफी और फारसी और उर्दू भाषाओं के किछौछा शरीफ से जयजयकार कवि और विद्वान हैं।
*प्रसिद्ध हास्य कवि सूंड फैजाबादी (वास्तविक नाम- दान बहादुर सिंह )का जन्म का जन्म जहांगीरगंज ब्लॉक के श्यामपुर अलऊपुर गांव मेंहुआ था आप एसकेपी इंटर कॉलेज आजमगढ़ में हिंदी के प्रवक्ता रहे ।‌‍‍उनकी रचनाएं लपेट ,चपेट, मियांं की दौड़, मेरेे बाप, गरीबी आदि हैं
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[उत्तर प्रदेश]]
* [[उत्तर प्रदेश के ज़िले|उत्तर प्रदेश के जिले]]
* [[सेखौलिया, उत्तर प्रदेश]]
 
== सन्दर्भ ==