"रसखान": अवतरणों में अंतर

177 बाइट्स हटाए गए ,  1 वर्ष पहले
No edit summary
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
 
== परिचय ==
रसखान के जन्म के सम्बंध में विद्वानों में मतभेद पाया जाता है। अनेकरसखान विद्वानोंके नेअनुसार इनकागदर जन्मके संवत्कारण 1615[[दिल्ली]] ई.शमशान मानाबन चुकी थी, तब दिल्ली छोड़कर वह [[बृज|ब्रज]] ([[मथुरा]]) चले गए। ऐतिहासिक साक्ष्य के आधार पर पता चलता है औरकि कुछउपर्युक्त नेगदर 1630सन् 1613 ई. मानामें हुआ था। उनकी बात से ऐसा प्रतीत होता है कि वह उस समय वयस्क हो चुके है।थे।
रसखान के अनुसार गदर के कारण [[दिल्ली]] शमशान बन चुकी थी, तब दिल्ली छोड़कर वह [[बृज|ब्रज]] ([[मथुरा]]) चले गए। ऐतिहासिक साक्ष्य के आधार पर पता चलता है कि उपर्युक्त गदर सन् 1613 ई. में हुआ था। उनकी बात से ऐसा प्रतीत होता है कि वह उस समय वयस्क हो चुके थे।
 
रसखान का जन्म संवत् 15901548 ई. मानना अधिक समीचीन प्रतीत होता है। भवानी शंकर याज्ञिक का भी यही मानना है। अनेक तथ्यों के आधार पर उन्होंने अपने मत की पुष्टि भी की है। ऐतिहासिक ग्रंथों के आधार पर भी यही तथ्य सामने आता है। यह मानना अधिक प्रभावशाली प्रतीत होता है कि रसखान का जन्म सन् 15901548 ई. में हुआ था।
 
रसखान के जन्म स्थान के विषय में भी कई मतभेद है। कई विद्वान उनका जन्म स्थल पिहानी अथवा दिल्ली को मानते है। [[शिवसिंहसरोज|शिवसिंह सरोज]] तथा हिन्दी साहित्य के प्रथम इतिहास तथा ऐतिहासिक तथ्यों के आधार पर रसखान का जन्म स्थान पिहानी जिला हरदोई माना जाए।
गुमनाम सदस्य