"अखिल भारतीय मुस्लिम लीग" के अवतरणों में अंतर

टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
ऑल इंडिया मुस्लिम लीग का गठन १९०६ में ढाका स्थान पर अमल में आया। महमडिं शैक्षणिक सम्मेलन के वार्षिक अधिवेशन के समाप्त होने पर उपमहाद्वीप के विभिन्न राज्यों से आए मुस्लिम ईतिदीन ने ढाका नवाब सलीम अल्लाह खान की निमंत्रण पर एक विशेष सम्मेलन की। बैठक में फैसला किया गया कि मुसलमानों की राजनीतिक मार्गदर्शन के लिए एक राजनीतिक पार्टी का गठन किया जाए. याद रहे कि सर सैय्यद ने मुसलमानों को राजनीति से दूर रहने का सुझाव दिया था। लेकिन बीसवीं सदी के आरंभ से कुछ ऐसी घटनाओं उत्पन्न होने शुरू हुए कि मुसलमान एक राजनीतिक मंच बनाने की जरूरत महसूस करने लगे। ढाका बैठक की अध्यक्षता नवाब प्रतिष्ठा आलमलك ने की। नवाब मोहसिन आलमल कि; मोलानामहमद अली जौहर, मौलाना जफर अली खान, हकीम अजमल खां और नवाब सलीम अल्लाह खान समेत कई महत्त्वपूर्ण मुस्लिम आबरीन बैठक में मौजूद थे। मुस्लिम लीग का पहला राष्ट्रपति सर आग़ा खान को चुना गया। केंद्रीय कार्यालय अलीगढ़ में स्थापित हुआ। सभी राज्यों में शाखाएं बनाई गईं। ब्रिटेन में लंदन शाखा का अध्यक्ष सैयद अमीर अली को बनाया गया।<ref>{{Cite web |url=http://www.pakstudy.com/index.php?topic=17592.0 |title=ऑल इंडिया मुस्लिम लीग का गठन |access-date=12 अगस्त 2012 |archive-url=https://web.archive.org/web/20150924063405/http://www.pakstudy.com/index.php?topic=17592.0 |archive-date=24 सितंबर 2015 |url-status=dead }}</ref>
 
== पाकिस्तान के लिए संघर्ष ==
पाकिस्तान का कोई रोल नही था
 
== मुस्लिम लीग पाकिस्तान में ==
बेनामी उपयोगकर्ता