"आरण्यक" के अवतरणों में अंतर

293 बैट्स् जोड़े गए ,  5 माह पहले
(Madhusmitabishoi के अवतरण 5198351पर वापस ले जाया गया (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना Reverted
 
==‘आरण्यक’ शब्द का अर्थ==
आरण्यक ग्रन्थों का आध्यात्मिक महत्त्व ब्राह्मण ग्रन्थों की अपेक्षा अधिक है। ये अपने नाम के अनुसार ही अरण्य या वन से सम्बद्ध हैं। जो अरण्य में पढ़ा या पढ़ाया जाए उसे ‘आरण्यक’ कहते हैं- ''अरण्ये भवम् आरण्यकम्।'' आरण्यक ग्रन्थों का प्रणयन प्रायः ब्राह्मणों के पश्चात् हुआ है क्योंकि इसमें दुर्बोध यज्ञ-प्रक्रियाओं को सूक्ष्म अध्यात्म से जोड़ा गया है। वानप्रस्थियों और संन्यासियों के लिए आत्मतत्त्व और ब्रह्मविद्या के ज्ञान के लिए मुख्य रूप से इन ग्रन्थों की रचना हुई है-ऐसा माना जाता है।<ref>{{Cite web|url=https://educalingo.com/hi/dic-hi/aranyaka-1|title=आरण्यक - हिन्दी शब्दकोश में आरण्यक की परिभाषा और पर्यायवाची|website=educalingo.com|language=hi|access-date=2021-08-01}}</ref>
 
==आरण्यक ग्रन्थों का विवेच्य विषय==
655

सम्पादन