"रोमुलो गालेगास": अवतरणों में अंतर

35 बाइट्स जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
छो (HotCat द्वारा श्रेणी:१९६९ में निधन जोड़ी)
 
रोमुलो गालेगास के उपन्यासों की एक और विशेषता है। उनमें हमें सभ्यता और बर्बरता के बीच मच रहे संघर्ष का भी चित्र मिलता है। आधुनिकता के व्यापक प्रभाव के कारण किस प्रकार जीवन के पुराने तौर बदल रहे हैं और नवीन मूल्यों की स्वीकृति कितने तीव्र विरोध के बाद हो पाती है यह उनके उपन्यासों मे बड़े ही मार्मिक ढंग से दिखाया गया है। प्रारंभिक रचनाओं में मनोवैज्ञानिक दृष्टि से असाधारण चरित्रों के अध्ययन में इनकी विशेष रूचि का आभास मिलता है लेकिन बाद की रचनाओं में जीवन को यथार्थ रूप में प्रस्तुत करने का प्रयास है। दोना बारबरा (Dona Barbara), जो सन् १९२९ में मैट्रिड से प्रकाशित हुआ, इन्हें अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त हुई। इनकी अन्य मुख्य रचनाएँ इस प्रकार हैं : ‘ला त्रेपदोरा’ (La Trepadora ; १९२५); ‘कैंटाक्लैरो’ (Cantaclaro १९४१); पोबर नीग्रो (Pobre Negro ; १९३७)।
 
[[श्रेणी:वेनेजुएला के उपन्यासकार]]
[[श्रेणी:1884 में जन्मे लोग]]
[[श्रेणी:१९६९ में निधन]]
29,860

सम्पादन