"क्रीमिया" के अवतरणों में अंतर

196 बैट्स् जोड़े गए ,  2 माह पहले
Rescuing 0 sources and tagging 3 as dead.) #IABot (v2.0.8
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.7)
(Rescuing 0 sources and tagging 3 as dead.) #IABot (v2.0.8)
 
== क्रीमिया संकट ==
{{मुख्य|२०१४ की युक्रेन क्राँति एवं क्रीमिया संकट}}
26 फ़रवरी 2014 को हथियारबंद रूस समर्थकों ने यूक्रेन के क्रीमिया प्रायद्वीप में संसद और सरकारी इमारतों पर को कब्जा कर लिया।<ref>{{cite web | url= http://hindi.economictimes.indiatimes.com/articleshow/31115001.cms| title= हथियाबंद प्रदर्शनकारियों के कब्जे में यूक्रेन की सरकारी बिल्डिंग| publisher = नवभारत टाईम्स| date= 27 फ़रवरी 2014| accessdate= 4 मार्च 2014}}{{Dead link|date=अगस्त 2021 |bot=InternetArchiveBot }}</ref> २ मार्च को रूस की संसद ने भी राष्ट्रपति पुतिन के यूक्रेन में रूसी सेना भेजने के निर्णय का अनुमोदन कर दिया।<ref name="nbt-army">http://hindi.economictimes.indiatimes.com/world/europe/putin-gets-russian-parliament-approval-to-attack-ukraine/articleshow/31232126.cms{{Dead link|date=अगस्त 2021 |bot=InternetArchiveBot }} रूसी संसद ने दी यूक्रेन में आर्मी भेजने की इजाजत</ref>इसके पीछे तर्क दियागया कि वहां रूसी मूल के लोग बहुतायत में हैं जिनके हितों की रक्षा करना रूस की जिम्मेदारी है।<ref name="nbt-7mar14">{{cite web| url= http://hindi.economictimes.indiatimes.com/india/national-india/---/articleshow/31552938.cms| title= रूस के साथ खड़ा है भारत| publisher= नवभारत टाईम्स| date= 7 मार्च 2014| accessdate= 7 मार्च 2014| archive-url= https://web.archive.org/web/20140315235400/http://hindi.economictimes.indiatimes.com/india/national-india/---/articleshow/31552938.cms| archive-date= 15 मार्च 2014| url-status= live}}</ref> दुनिया भर में इस संकट से चिंता छा गई और कई देशों के राजनयिक अमले हरकत में आ गए।<ref>{{cite web | url = http://hindi.economictimes.indiatimes.com/world/europe/World-scrambles-as-Russia-tightens-grip-on-Crimea/articleshow/31348485.cms | title = यूक्रेन संकट : दुनिया बोली रुको रूस | date = 3 मार्च 2014 | access date = 8 मई 2014 }}{{Dead link|date=अगस्त 2021 |bot=InternetArchiveBot }}</ref>
 
6 मार्च को [[क्रीमिया]] की संसद ने [[रूस|रूसी संघ]] का हिस्सा बनने के पक्ष में मतदान किया।<ref>{{Cite web |url=http://khabar.ibnlive.in.com/news/117047/2 |title=आईबीएन खबर |access-date=8 मई 2014 |archive-url=https://web.archive.org/web/20140312000711/http://khabar.ibnlive.in.com/news/117047/2 |archive-date=12 मार्च 2014 |url-status=dead }}</ref>जनमत संग्रह के परिणामों को आधार बनाकर 18 मार्च 2014 को क्रीमिया को रूसी फेडरेशन में मिलाने के प्रस्ताव पर [[रूस]] के राष्ट्रपति [[व्लादिमीर पुतिन]] ने हस्ताक्षर कर दिए। इसके साथ ही क्रीमिया रूसी फेडरेशन का हिस्सा बन गया है।<ref>[https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%95%E0%A4%BF%E0%A4%AA%E0%A5%80%E0%A4%A1%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE:%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%B0/%E0%A4%89%E0%A4%AE%E0%A5%8D%E0%A4%AE%E0%A5%80%E0%A4%A6%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0#.E0.A4.9C.E0.A5.80-8_.E0.A4.B6.E0.A4.BF.E0.A4.96.E0.A4.B0_.E0.A4.AC.E0.A5.88.E0.A4.A0.E0.A4.95_.E0.A4.B0.E0.A4.A6.E0.A5.8D.E0.A4.A6_.E0.A4.95.E0.A5.80_.E0.A4.97.E0.A4.AF.E0.A5.80 क्रीमिया को रूसी फेडरेशन में मिलाने के प्रस्ताव पर पुतिन ने किए हस्ताक्षर] {{Webarchive|url=https://web.archive.org/web/20140803104112/http://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%95%E0%A4%BF%E0%A4%AA%E0%A5%80%E0%A4%A1%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE:%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%B0/%E0%A4%89%E0%A4%AE%E0%A5%8D%E0%A4%AE%E0%A5%80%E0%A4%A6%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0#.E0.A4.9C.E0.A5.80-8_.E0.A4.B6.E0.A4.BF.E0.A4.96.E0.A4.B0_.E0.A4.AC.E0.A5.88.E0.A4.A0.E0.A4.95_.E0.A4.B0.E0.A4.A6.E0.A5.8D.E0.A4.A6_.E0.A4.95.E0.A5.80_.E0.A4.97.E0.A4.AF.E0.A5.80 |date=3 अगस्त 2014 }}एन॰डी॰ टीवी इंडिया</ref> उल्लेखनीय है कि क्रीमिया 18वीं सदी से रूस का हिस्सा रहा है लेकिन 1954 में तत्कालीन रूसी नेता ख्रुश्चेव ने यूक्रेन को भेंट के तौर पर क्रीमिया दिया था।<ref name="nbt-7mar14"/>
1,12,344

सम्पादन