"दर्पण": अवतरणों में अंतर

10 बाइट्स जोड़े गए ,  10 माह पहले
Galat tha
छो (2409:4043:2D8C:C9DB:0:0:294B:C30D (Talk) के संपादनों को हटाकर Afsar siddiqui के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
(Galat tha)
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
{{otheruses|आईना (बहुविकल्पी)}}
'''दर्पण''' या आईना एक प्रकाशीय युक्ति है जो [[परावर्तन|प्रकाश के परावर्तन]] के सिद्धान्त पर काम करता है। Galat hai
 
== दर्पण के प्रकार ==
गुमनाम सदस्य