"राजपुताना": अवतरणों में अंतर

924 बाइट्स जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
[अनिरीक्षित अवतरण][अनिरीक्षित अवतरण]
No edit summary
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
No edit summary
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
[[चित्र: 1909.jpg|thumb|right|250px| [[राजस्थान]] पहले राज्य/क्षेत्र/प्रदेश के रूप में जाना जाता था। 1909 का ब्रिटिशकालीन नक्शा ]]
[[चित्र:Map rajasthan dist all shaded.png|thumb|right|250px|मौजूदा [[राजस्थान]] के ज़िलों का मानचित्र]]
राजपूत का इतिहास, इतिहास चोरी करने का भी रहा है ये लोग दूसरे समाज के राजाओं को अपना बता कर खुद पे बड़ा फक्र महसूस करते है। ललितादिया मुक्तपीद , चोला राजवंश, पाल राजवंश, काकतीय राजवंश, कारकोट, सातवाहन राजवंश, दुर्लभ वर्धन , जैसे अन्य राजवंश को अपना नाम देकर अपना इतिहास बढ़ाने की कोशिश करते हैं। अपना साम्राज्य बढ़ाने के लिए इन्होंने रानी जोधा का अकबर के साथ निकाह कर दिया। जिस से इनका साम्राज्य और बड़ा हो सके। मुसलमानों को भारत से भागने की जगह उन्हे अपनी बिटिया सोप देते थे।
मानचित् भी कहा जाता है।
 
राजपूतों का राज्य/क्षेत्र/प्रदेश<nowiki>''' जिसे '''राजस्थान'''</nowiki> भी कहा जाता है। <ref>John Keay (2001). India: a history. Grove Press. pp. 231–232</ref> इस प्रदेश का आधुनिक नाम [[राजस्थान]] है, जो उत्तर [[भारत]] के पश्चिमी भाग में अरावली की पहाड़ियों के दोनों ओर फैला हुआ है। इसका अधिकांश भाग मरुस्थल है। यहाँ वर्षा अत्यल्प और वह भी विभिन्न क्षेत्रों में असमान रूप से होती है। यह मुख्यत: वर्तमान [[राजस्थान]] राज्य की भूतपूर्व रियासतों का समूह है, जो [[भारत]] का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। [[राजपूत]] क्षत्रिय समाज राजस्थान का एक अहम हिस्सा है ।
 
== भौगोलिक स्थिति ==
18

सम्पादन