"मोपला विद्रोह" के अवतरणों में अंतर

835 बैट्स् नीकाले गए ,  2 माह पहले
Reverted to revision 5304056 by संजीव कुमार (talk): Reverted (TwinkleGlobal)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
(Reverted to revision 5304056 by संजीव कुमार (talk): Reverted (TwinkleGlobal))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
}}
 
'''मोपला विद्रोह''' : [[केरल]] के मोपला मुसलमानों द्वारा १९२1में स्थानीय जमीदारो द्वारा ब्रिटेनियों के विरुद्ध किया गया था। यह विद्रोह '''मोपला विद्रोह''' कहलाता है। यह विद्रोह [[मालाबार]] के एरनद और वल्लुवानद तालुका में [[ख़िलाफ़त आन्दोलन|खिलाफत आन्दोलन]] के विरुद्ध अंग्रेजों द्वारा की गयी दमनात्मक कार्यवाही के विरुद्ध आरम्भ हुआ था। इसमें अंग्रेज़ो द्वारा हिन्दुओ ओर मुस्लिमों के बीच दंगा करने का काफी प्रयास हुआ। जिसमें वो सफल भी हुए, इसी को आधार बनाकर [[विनायक दामोदर सावरकर]] ने 'मोपला' नामक उपन्यास की रचना की है।
'''मोपला नरसंहार''' : [[केरल]] के मोपला मुसलमानों द्वारा १९२1में हिंदुओं के खिलाफ एक नरसंहार था जिसमे आधिकारिक रूप से 10000 हिंदुओ (लगभग 85% दलित) को मारा गया, 20000 का धर्म परिवर्तन किया गया और 5000 हिंदू स्त्रियों और बालिकाओं का सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। प्रत्यक्षदर्शियों और ब्रिटिश लेखकों के अनुसार यह आंकड़ा 4 गुणा तक था। यह विद्रोह [[मालाबार]] के एरनद और वल्लुवानद तालुका में [[ख़िलाफ़त आन्दोलन|खिलाफत आन्दोलन]] के असफलता के प्रतिशोध में हुआ था। इसी को आधार बनाकर [[विनायक दामोदर सावरकर]] ने 'मोपला' नामक उपन्यास की रचना की है।सबसे बड़ी बात है की ये थोड़ी घटनाओं को ले कर ज़्यादा तौलाया गया की हिंदुओं के साथ बर्बरता हुई जबकि सच ये है की ये एक कृषक विद्रोह था जो अपने हिंदू ज़मींदारों के ख़िलाफ़ हुआ था ,ये सच है की कोई भी विद्रोह होता है तो ये घटनाएँ हो ही जाती हैं जैसा की पूरे देश में हर एक विद्रोह का यही इतिहास है ,आंदोलन में हिंदू नेता भी शामिल थे
 
== इन्हें भी देखें==