"कुपोषण": अवतरणों में अंतर

1 बाइट हटाया गया ,  1 वर्ष पहले
छो
2409:4064:79B:F7B0:0:0:EED:A8B1 (Talk) के संपादनों को हटाकर Kritagya verma के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(Kuposhan Ke Karan)
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
छो (2409:4064:79B:F7B0:0:0:EED:A8B1 (Talk) के संपादनों को हटाकर Kritagya verma के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
[[चित्र:Starved child.jpg|right|thumb|300px|अतिशय कुपोषण से ग्रसित एक बालक]]
{{विकास अर्थशास्त्र साइडबार}}
शरीर के लिए आवश्यक [[सन्तुलित आहार]] लम्बे समय तक नहीं मिलना ही '''कुपोषण''' है। कुपोषण के कारण बच्चों और महिलाओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है, जिससे वे आसानी से कई तरह की बीमारियों के शिकार बन जाते हैं। अत: कुपोषण की जानकारियाँ होना अत्यन्त जरूरी है। कुपोषण प्राय: पर्याप्त [[सन्तुलित अहार]] के आभाव में होता है। बच्चों और स्त्रियों के अधिकांश रोगों की जड़ में कुपोषण ही होता है। स्त्रियों में [[रक्ताल्पता]] या [[घेंघा रोग]] अथवा बच्चों में [[सूखा रोग]] या [[रतौंधी]] और यहाँ तक कि [[अंधत्व]] भी कुपोषण के ही दुष्परिणाम हैं। इसके अलावा ऐसे पचासों रोग हैं जिनका कारण अपर्याप्त या असन्तुलित भोजन होता है।hहै।
 
== कुपोषण को कैसे पहचानें ==