"दशलक्षण धर्म" के अवतरणों में अंतर

129 बैट्स् नीकाले गए ,  1 माह पहले
छो
पंडित श्री रूद्राक्ष देव पंडित (Talk) के संपादनों को हटाकर 182.68.120.148 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(मैंने धर्म के अनुसार पूर्वावलोकन किया है)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
छो (पंडित श्री रूद्राक्ष देव पंडित (Talk) के संपादनों को हटाकर 182.68.120.148 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन प्रत्यापन्न उन्नत मोबाइल सम्पादन
 
अनंतपंडितश्रीरुद्राक्षदेवपंडितअनंत के अनुसार/{{विकिफ़ाइ|date=फ़रवरी 2018}}
[[जैन धर्म]] के दिगम्बर अनुयायियों द्वारा आदर्श अवस्था में अपनाये जाने वाले गुणों को '''दशलक्षण धर्म''' कहा जाता है। इसके अनुसार जीवन में सुख-शांति के लिए उत्तम क्षर्मा, मार्दव, आर्जव, सत्य, शौच, संयम, तप, त्याग, अकिंचन और ब्रह्मचर्य आदि दशलक्षण धर्मों का पालन हर मनुष्य को करना चाहिए
 
15,391

सम्पादन