"हिंदी आलोचना": अवतरणों में अंतर

534 बाइट्स हटाए गए ,  1 वर्ष पहले
सामग्री आलोचना पृ,्ठ पर विलयित
छो (अनिरुद्ध कुमार ने साहित्यिक समालोचना पृष्ठ हिंदी आलोचना पर स्थानांतरित किया: लेख के उपयुक्त नाम)
(सामग्री आलोचना पृ,्ठ पर विलयित)
{{स्रोतहीन|date=मई 2019}}
[[साहित्य]] के पाठ अध्ययन, विश्लेषण, मूल्यांकन एवं अर्थ निगमन की प्रक्रिया '''साहित्यिक समालोचना''' (Literary criticism) कहलाती है। समालोचना का कार्य कृति के गुण दोष विवेचन के साथ उसका मूल्य अंकित करना है।
 
==हिन्दी आलोचना==
[[हिन्दी]] की विभिन्न विधाओं की तरह [[आलोचना]] का विकास भी प्रमुख रूप से आधुनिक काल की देन है। आधुनिक काल से पहले आलोचना का स्वरुप प्रमुखतया [[संस्कृत भाषा|संस्कृत]] [[काव्यशास्त्र]] की पुनरावृति हुआ करती थी। लेकिन आज जो हिन्दी आलोचना का स्वरुप है उसका आरम्भ आधुनिक हिन्दी साहित्य के साथ साथ हुआ है।