"गुरमीत राम रहीम सिंह" के अवतरणों में अंतर

छो
सम्पादन सारांश रहित
छो
छो
}}
 
'''गुरमीत राम रहीम सिंह इन्साँ''' [[हरियाणा]] के सिरसा में स्थित संस्था [[डेरा सच्चा सौदा]] का प्रमुख था।<ref>{{cite web|url=http://aajtak.intoday.in/story/gurmeet-ram-rahim-five-films-box-office-collection-msg-panchkula-court-verdict-tmov-1-948689.html|title=5 फिल्में कर चुके हैं राम रहीम, जानें 100 करोड़ के कलेक्शन का राज|access-date=25 अगस्त 2017|archive-url=https://web.archive.org/web/20170825095719/http://aajtak.intoday.in/story/gurmeet-ram-rahim-five-films-box-office-collection-msg-panchkula-court-verdict-tmov-1-948689.html|archive-date=25 अगस्त 2017|url-status=live}}</ref> डेरा सच्चा सौदा की स्थापना १९६८ में शाह मस्ताना जी द्वारा की गई थी। गुरमीत इस संस्था के तीसरे प्रमुख थे। इनके कार्यकाल में डेरा का अभूतपूर्व प्रचार प्रसार हुआ और इनके अनुयायियों की संख्या में कई गुना वृद्धि हुई। गुरमीत राम रहीम सिंह के नेतृत्व में डेरा सच्चा सौदा में कई सकारात्मक कार्य किये गए, नए नए प्रयोग किए गए, वहीं वे हमेशा विवादों में भी बने रहे। विवादों की परिणति 25 अगस्त 2017 को एकआश्रम की के यौनसाथ शोषणदुष्कर्म मामले में अदालत द्वारा इन्हें दोषी करार दिए जाने के रूप में हुई।<ref>{{cite web|url=https://www.washingtonpost.com/news/global-opinions/wp/2017/08/26/the-day-a-rapist-held-india-for-ransom/?utm_term=.7fe8b2d81f45|title=The day a rapist held India hostage|access-date=28 अगस्त 2017|archive-url=https://web.archive.org/web/20170828192210/https://www.washingtonpost.com/news/global-opinions/wp/2017/08/26/the-day-a-rapist-held-india-for-ransom/?utm_term=.7fe8b2d81f45|archive-date=28 अगस्त 2017|url-status=live}}</ref> इस मामले में राम रहीम को 20 साल के सश्रम कारावास व 65 लाख रूपये जुर्माने की सजा हुई। और राम रहीम को पत्रकार राम चन्द्र छत्रपति हत्या काँड में 11 जनवरी 2019 को दोषी करार दिया गया व दिनांक 17 जनवरी 2019 को सीबीआई की विशेष आदालत ने उम्र कैद की सजा सुनाई है।
 
== प्रारंभिक जीवन ==
 
==आध्यात्मिक नेता ==
डेरा के द्वितीय प्रमुख शाह सतनाम जीसिंह ने गुरमीत सिंह को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया। [[सिरसा]] के डेरा सच्चा सौदा की कमान राम रहीम ने 90 के दशक में संभाली थी। गद्दी संभालने के बाद वे भी परंपरानुसार सत्संग, प्रवचन आदि देने लगे। इनके नेतृत्व में डेरे के भक्तों की संख्या में काफी वृद्धि हुई। आमतौर पर व्यक्तिगत आध्यात्म पर केंद्रित इस संस्था को इन्होंने सामाजिक रूप से सक्रिय बनाया। इनके द्वारा कई प्रकार के सकारात्मक सामजिक कार्य किए गए, यथा:
* सर्वधर्म समभाव का संदेश देने के लिए इन्होंने अपने नाम में कई सम्प्रदायों के नाम शामिल किए व अपना नाम गुरमीत सिंह से बदलकर गुरमीत राम रहीम सिंह रखा।
* जातिप्रथा की समाप्ति का आह्वान किया तथा अपने भक्तों से जातिवाचक नाम हटाकर ''इन्साँ'' नाम लगाने को प्रेरित किया।
1,471

सम्पादन