"तेनजिन ग्यात्सो": अवतरणों में अंतर

छो
43.255.166.85 (Talk) के संपादनों को हटाकर Palon Taavi के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
No edit summary
छो (43.255.166.85 (Talk) के संपादनों को हटाकर Palon Taavi के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
[[File:Dalailama1 20121014 4639.jpg|right|300px|thumb|दलाई लामा (2012)]]
 
चौदहवें '''दलाई लामा''' तेनजिन ग्यात्सो ([[६ जुलाई]], [[१९३५|1935]] - वर्तमान) तिब्बत के राष्ट्राध्यक्ष और आध्यात्मिक गुरू हैं। उनका जन्म ६ जुलाई १९३५ को उत्तर-पूर्वी [[तिब्बत]] के ताकस्तेर क्षेत्र में रहने वाले ये ओमान परिवार में हुआ था। दो वर्ष की अवस्था में बालक ल्हामो धोण्डुप की पहचान 13 वें दलाई लामा थुबटेन ग्यात्सो के अवतार के रूप में की गई। दलाई लामा एक मंगोलियाई पदवी है जिसका मतलब होता है '''ज्ञान का महासागर''' और दलाई लामा के वंशज करूणा, अवलोकेतेश्वर के बुद्ध के गुणों के साक्षात रूप माने जाते हैं। [[बोधिसत्व]] ऐसे ज्ञानी लोग होते हैं जिन्होंने अपने [[निर्वाण]] को टाल दिया हो और मानवता की रक्षा के लिए पुनर्जन्म लेने का निर्णय लिया हो। उन्हें सम्मान से [[परमपावन]] भी कहा जाता है।
 
 
== दलाई लामा के संदेश ==
[[चित्र:Vienna 2012-05-26 - Europe for Tibet Solidarity Rally 194 HH sequence s.jpg|thumb|left|upright=0.5|(2012)]]
दलाई लामा के संदेश निम्नलिखित हैं :---
* आज के समय की चुनौती का सामना करने के लिए मनुष्य को '''सार्वभौमिक उत्तरदायित्व की व्यापक भावना''' का विकास करना चाहिए। हम सबको यह सीखने की जरूरत है कि हम न केवल अपने लिए कार्य करें बल्कि पूरे मानवता के लाभ के लिए कार्य करें। मानव अस्तित्व की वास्तविक कुंजी सार्वभौमिक उत्तरदायित्व ही है। यह विश्व शांति, प्राकृतिक संसाधनों के समवितरण और भविष्य की पीढ़ी के हितों के लिए पर्यावरण की उचित देखभाल का सबसे अच्छा आधार है।
* एक शरणार्थी के रूप में हम तिब्बती लोग '''भारत के लोगों के प्रति हमेशा कृतज्ञता''' महसूस करते हैं, न केवल इसलिए कि भारत ने तिब्बतियों की इस पीढ़ी को सहायता और शरण दिया है, बल्कि इसलिए भी कई पीढ़ियों से तिब्बती लोगों ने इस देश से पथप्रकाश और बुधमित्ता प्राप्त की है। इसलिए हम हमेशा भारत के प्रति आभारी रहते हैं। यदि सांस्कृतिक नजरिए से देखा जाए तो हम भारतीय संस्कृति के अनुयायी हैं।
* हम चीनी लोगों या '''चीनी नेताओं के विरुद्ध नहीं''' हैं आखिर वे भी एक मनुष्य के रूप में हमारे भाई-बहन हैं। यदि उन्हें खुद निर्णय लेने की स्वतंत्रता होती तो वे खुद को इस प्रकार की विनाशक गतिविधि में नहीं लगाते या ऐसा कोई काम नहीं करते जिससे उनकी बदनामी होती हो। मैं उनके लिए करूणा की भावना रखता हूँ।
 
author is vikram maurya
== इन्हें भी देखें ==
[[तिब्बत]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
* [https://web.archive.org/web/20080413133638/http://www.indiatibet.org/ भारत-तिब्बत समन्वय केन्द्र]
* [https://web.archive.org/web/20161110113117/http://www.dalailamahindi.com// परम पावन दलाई लामा का जालस्थल]
* [https://web.archive.org/web/20111211165549/http://achchikhabar.blogspot.com/2011/07/dalai-lama-quotes-in-hindi.html दलाई लामा के महान विचार (Dalai Lama Quotes in Hindi)]
 
[[श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन]]