"वसीम रिजवी": अवतरणों में अंतर

नाम बदला गया
No edit summary
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(नाम बदला गया)
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
== विवादों में ==
अपने बयानों के चलते रिजवीत्यागी कई बार विवादों में घिरे हैं और उन पर इस्लाम-विरोधी होने का आरोप भी लगा है। इस्लामी इमामों के द्वारा उन्हें इस्लाम से खारिज़ भी कर दीया गया है।<ref>{{cite web|url=https://hindi.news18.com/amp/news/uttar-pradesh/lucknow-shia-waqf-board-chairman-waseem-rizvi-rejected-from-islam-kalbe-jawwad-ram-temple-fatwa-1498034.html|title=इस्लाम से खारिज किए गए शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी|publisher=News18|access-date=9 जनवरी 2019|archive-url=https://web.archive.org/web/20190110014145/https://hindi.news18.com/amp/news/uttar-pradesh/lucknow-shia-waqf-board-chairman-waseem-rizvi-rejected-from-islam-kalbe-jawwad-ram-temple-fatwa-1498034.html|archive-date=10 जनवरी 2019|url-status=dead}}</ref> हालांकि रिजवीउन्होंने अभी6 भीदिसंबर अपने आप2021 को मुसलमानडासना मंदिर के मुख्य पुजारी, यति नरसिंहानंद गिरि महाराज की उपस्थिति में हिंदू धर्म में मानतेधर्मांतरण हैं।कराया।
 
=== वसीम रिजवीत्यागी के कुछ प्रसिद्ध वक्तव्य===
१. देश की नौ विवादित मस्जिदों को हिन्दुओं को सौंप दें मुसलमान।<ref>{{cite web|url=https://aajtak.intoday.in/lite/story/shia-waqf-board-chief-waseem-rizvi-place-of-worship-special-act-1991-mosque-1-1017924.html|title=वसीम रिजवी ने 9 विवादित मस्जिदों को हिंदुओं को सौंपने की मांग की|publisher=Aajtak.intoday.in|access-date=9 जनवरी 2019|archive-url=https://web.archive.org/web/20190110013957/https://aajtak.intoday.in/lite/story/shia-waqf-board-chief-waseem-rizvi-place-of-worship-special-act-1991-mosque-1-1017924.html|archive-date=10 जनवरी 2019|url-status=live}}</ref>
 
२. हिन्दुस्तान की धरती पर कलंक की तरह है बाबरी ढांचा।<ref>{{cite web|url=https://aajtak.intoday.in/lite/story/shia-waqf-board-chief-waseem-rizvi-support-ayodhya-babri-masjid-gift-hindu-community-1-1033082.html|title=वसीम रिजवी बोले, हिंदुस्तान की जमीन पर कलंक की तरह है बाबरी ढांचा|publisher=aajtak.intoday.in|access-date=9 जनवरी 2019|archive-url=https://web.archive.org/web/20190110014143/https://aajtak.intoday.in/lite/story/shia-waqf-board-chief-waseem-rizvi-support-ayodhya-babri-masjid-gift-hindu-community-1-1033082.html|archive-date=10 जनवरी 2019|url-status=live}}</ref>
 
३. रिजवीत्यागी ने कहा कि चांद तारे वाला हरा झंडा इस्लाम का धार्मिक झंडा नहीं है। ये पाकिस्तान की राजनैतिक पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग से मिलता जुलता है। इस झंडे को फहराने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। रिजवीत्यागी ने यहां तक कह दिया कि पैगम्बर मोहम्मद साहब अपने कारवां में सफेद या काले रंग का झंडा प्रयोग करते थे।<ref>{{cite web|url=https://www.jansatta.com/rajya/sharia-wakf-board-chairman-wasim-rizvi-threatens-to-kill/707538/lite/|title=इस्लामिक झंडे पर किया था कमेंट, वसीम रिजवी को मिली जान से मारने की धमकी|publisher=जनसत्ता|access-date=9 जनवरी 2019|archive-url=https://web.archive.org/web/20190110013828/https://www.jansatta.com/rajya/sharia-wakf-board-chairman-wasim-rizvi-threatens-to-kill/707538/lite/|archive-date=10 जनवरी 2019|url-status=dead}}</ref>
 
४. इस्लामी मदरसों को बंद कर देना चाहिए क्योंकि ये आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं। ये भारतीय मुसलमानों के लिए अच्छे नहीं हैं। ये मुसलमान नौजवानों के दिमाग में ज़हर घोलते हैं। बहुत मदरसों में आतंकी ट्रेनिंग दी जाती है। यहां आधुनिक शिक्षा नहीं दी जाती। मजहबी कट्टरता सिखाई जाती है।<ref>https://www.thelallantop.com/bherant/wasim-rizvi-chairman-of-shia-waqf-board-has-written-a-letter-to-prime-minister-narendra-modi-that-madarsas-in-uttar-pradesh-are-producing-terrorists-so-need-to-eradicate-madarsas/amp/|publisher=कौन हैं शिया वक्फ़ बोर्ड के चेयरमैन, जिन्हें दाऊद ने बम से उड़ाने की धमकी दी है|publisher=thelallantop}}</ref>
 
५. '''जानवरों की तरह बच्चे पैदा करने से देश को नुकसान''' - जनवरी २०२० में जनसंख्या नियंत्रण पर संभावित कानून का समर्थन करते हुए वसीम रिजवीत्यागी ने कहा, ''कुछ लोग मानते हैं कि बच्चों का जन्म प्राकृतिक है और इससे कोई छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए। लेकिन कई-कई बच्चों को जन्म देना समाज और देश के लिए काफी हानिकारक है। अगर देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून लाया जाता है तो यह बेतहाशा बढ़ती आबादी पर काबू पाने के लिए बेहतर होगा।''<ref>[https://www.aajtak.in/india/story/up-shia-wakf-board-board-chairman-wasim-rizvi-statement-on-population-control-1015555-2020-01-20 वसीम रिजवी बोले- जानवरों की तरह बच्चे पैदा करना देश के लिए हानिकारक]</ref>
 
६. '''कुरान की 26 आयतों को हटाने के लिए सर्वोच्च न्यायालय में जनहित याचिका दी''' - मार्च २०२१ में वसीम रिजवीत्यागी ने कुरान की 26 आयतों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल की है। अपनी याचिका में वसीम रिजवीत्यागी ने कहा है कि कुरान की इन आयतों से आतंकवाद को बढ़ावा मिलता है। वसीम रिजवीत्यागी का कहना है कि मदरसों में बच्चों को कुरान की इन आयतों को पढ़ाया जा रहा है, जिससे उनका ज़हन कट्टरपंथ की ओर बढ़ रहा है। <ref>[https://www.indiatv.in/india/national-waseem-rizvi-files-petition-against-26-ayats-of-quran-saying-they-promote-terrorism-777912 वसीम रिजवी ने कुरान की 26 आयतों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की जनहित याचिका]</ref><ref>[https://samarsaleel.com/hindu-mahasabha-came-out-in-support-of-the-removal-of-quranic-imports/157785 कुरान की आयातों के हटाने के समर्थन में उतरी हिन्दू महासभा]</ref>
 
== सन्दर्भ ==
69

सम्पादन