"मेहता लज्जाराम शर्मा" के अवतरणों में अंतर

 
उनकी आरंभिक शिक्षा घर पर ही हुई। उन्होंने गुजराती, हिंदी, संस्कृत, मराठी तथा अंग्रेजी भाषा में दक्षता प्राप्त की।
 
२९ जून १९३१ ई. को उनका निधन हो गया।
 
== व्यावसायिक जीवन ==
मेहता लज्जाराम शर्मा ने अपने व्यावसायिक जीवन की शुरुआत अध्यापक के रूप में किया। इसके बाद उन्होंने सर्वहित नामक हिंदी पत्र निकाला। इसके बाद उन्होंने मुंबी के वेंकटेस्वर समाचार पत्र में संपादक के रूप में कार्य किया। ७ वर्ष तक संपादन कार्य करने के बाद वे बूंदी चले गए।