"जड़ (वनस्पति)": अवतरणों में अंतर

1,182 बैट्स् जोड़े गए ,  6 माह पहले
For more information
छो (49.32.170.252 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को 2409:4064:4E17:B7A0:559D:5F02:2DFF:BE6A के बदलाव से पूर्ववत किया: स्पैम लिंक।)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना SWViewer [1.4]
(For more information)
टैग: Reverted यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
[[चित्र:Exposed mango tree roots.jpg|thumb|right|आम के वृक्ष का जड़]]
[[चित्र:Wurzeln am Berghäuser Altrhein, Speyerer Auwald.JPG|thumb|250px|]]
पौधे का वह भाग जो जमीन के अन्दर मुलांकुर से विकसित होकर प्रवेश करता है तथा प्रकाश के विपरीत जाता है, '''जड़''' या '''मूल''' (root) कहलाता है। अधिकाश द्विबीजपत्री पादपों में मूलांकुर के लंबे होने से प्राथमिक मूल बनती है जा मिट्टी में उगती है। इसमें पाश्र्वयी मूल होती है जिन्हें द्वितीयक तथा तृतीयक मूल कहते है। प्राथमिक मूल तथा इसकी शाखाएँ मिलकर मूसला मूलतंत्र बनाती है। इसका उदाहरण सरसों का पौधा है एकबीजपत्री पौधों में प्राथमिक मूल अल्पायु होती है और इसके स्थान पर अनेक मूल निकल जाती हैं। ये मूल तने के आधार से निकलती हैं। इन्हें झकड़ा मूलतंत्र कहते हैं। इसका उदाहरण गेहूँ का पौधा है । कुछ
 
== परिचय ==
बेनामी उपयोगकर्ता