"कूलॉम-नियम" के अवतरणों में अंतर

682 बैट्स् जोड़े गए ,  3 माह पहले
छो
106.76.225.158 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2401:4900:3C7A:64EE:12FE:6E12:3550:D9D1 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
No edit summary
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (106.76.225.158 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2401:4900:3C7A:64EE:12FE:6E12:3550:D9D1 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न SWViewer [1.4]
कुलाम का नियम जिसकी खोज फ्रांसीसी वैज्ञानिक ने की थी
tdoqkfkfkskektifisiwjrjgofsajwjr विकास के लिये आधार का काम किया। यह नियम अदिश रूप में या सदिश रूप में व्यक्त किया जा सकता है। अदिश रूप में यह नियम निम्नलिखित रूप में है।
 
'''कूलॉम-नियम''' (Coulomb's law) विद्युत [[आवेश|आवेशों]] के बीच लगने वाले [[स्थिरविद्युत बल]] के बारे में एक नियम है जिसे कूलम्ब नामक फ्रांसीसी वैज्ञानिक ने १७८० के दशक में प्रतिपादित किया था। यह नियम [[विद्युतचुम्बकत्व]] के सिद्धान्त के विकास के लिये आधार का काम किया। यह नियम अदिश रूप में या सदिश रूप में व्यक्त किया जा सकता है। अदिश रूप में यह नियम निम्नलिखित रूप में है।
 
: ''"दो बिन्दु आवेशों के बीच लगने वाला स्थिरविद्युत बल का मान उन दोनों आवेशों के गुणनफल के [[समानुपात|समानुपाती]] होता है तथा उन आवेशों के बीच की दूरी के वर्ग के [[व्युत्क्रमानुपात|व्युत्क्रमानुपाती]] होता है।"''
10,641

सम्पादन