"भाखड़ा बांध": अवतरणों में अंतर

11 बाइट्स हटाए गए ,  10 माह पहले
छो
2401:4900:5C51:B467:0:0:2B:50B (Talk) के संपादनों को हटाकर Hunnjazal के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(Name)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
छो (2401:4900:5C51:B467:0:0:2B:50B (Talk) के संपादनों को हटाकर Hunnjazal के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
| reservoir_capacity = 9.340 घन किमी
| reservoir_catchment=
| reserhd video voir_surfacereservoir_surface = 168.35 वर्ग किमी
| depth =
| plant_owner =
| plant_operator =
| turbines = 5 x 1000008108 MW, 705 x 157 MW फ्रांसिस टरबाइन
| installed_capacity = 846671325 [[वॉट|MW]]
| max_capacity =
| annual_generation =
| com = 1960-1968
| decom =
| bridge_length = 69000feet1700 feet
| bridge_width = 8030 feet
| bridge_clearance =
| bridge_traffic =
}}
[[File:Pt. Jawaharlal Nehru with group of engineers who constructed Bhakra Dam 03.jpg|thumb|Pt. Jawaharlal Nehru with group of engineers who constructed Bhakra Dam 03]]
भारतीय योजनाकारों और अभियन्‍ताओं द्वारा दो मुख्‍य महत्‍वपूर्ण निर्णय लिए गए। पहला निर्णय, भाखडा बांध की अपेक्षा पहले भाखडा नहर प्रणाली निर्मित करने का था तथा दूसरा निर्णय विदेशी विशेषज्ञों की सहायता से विभागीय रूप में बांध का निर्माण करना था। यद्यपि यू.एस.बी आर भाखडा बांध का डिजाइन सलाहकार था फिर भी इसका क्रियावयन सिंचाई विभाग के भारतीय अभियन्‍ताओं के हाथ में आया। अप्रैल, 1952 के पश्‍चात जब मि. एम.sudhakar Singhहारवे स्‍लोकम अमेरिका से निर्माण तकनीशियनों तथा अभियन्‍ताओं की अपनी टीम के साथ आए तो इसका पूर्ण रूप से सक्रिय निर्माण कार्य प्राम्‍भ हुआ।
स्लोकम अमेरिका से निर्माण तकनीशियनों तथा अभियन्‍ताओं की अपनी टीम के साथ आए तो इसका पूर्ण रूप से सक्रिय निर्माण कार्य प्राम्‍भ हुआ।
 
== बाहरी कड़ियाँ ==