"इस्लाम के सम्प्रदाय एवं शाखाएँ": अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश नहीं है
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
 
{{आधार}}
[[मुहम्मद|मोहम्मद]] साहबस० कीके मृत्युइस दुनिया से पर्दा करने के बाद [[इस्लाम]] में परम्परा, [[विधिशास्त्र]] तथा विचारों के आधार पर मतभेद होते रहे और अलग-अलग सम्प्रदाय बनते गये। वर्तमान समय में [[इस्लाम]] में बहुत से सम्प्रदाय और शाखाएँ हैं।
 
इस्लामी न्यायशास्त्र [[फ़िक़्ह|फ़िक़ह]] के आधार पर मुस्लिम समुदाय प्राथमिक रूप से तीन समूहों में बंटा हुआ है। वह हैं-
 
<u><br />
तिरमिज़ी शरीफ़ की हदीस मे लिखा है कि 73 मे से "एक फिरका" (मिल्लत) जन्नत मे जाएगी .</u>
 
= इस्लाम का विभाजन =
गुमनाम सदस्य