"श्लेष अलंकार": अवतरणों में अंतर

3 बाइट्स हटाए गए ,  8 माह पहले
तीन के स्थान पर एक
No edit summary
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
(तीन के स्थान पर एक)
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
{{cquote|'' '''पानी''' गये न ऊबरैँ, मोती मानुष चून।''}}
 
यहाँ पानी का प्रयोग तीनएक बार किया गया है, किन्तु दूसरी पंक्ति में प्रयुक्त ''पानी'' शब्द के तीन अर्थ हैं; मोती के सन्दर्भ में पानी का अर्थ ''चमक'' या कान्ति, मनुष्य के सन्दर्भ में पानी का अर्थ ''इज्जत'' (सम्मान), चूने के सन्दर्भ में पानी का अर्थ ''साधारण पानी''(जल) है।
 
==इन्हें भी देखें==
गुमनाम सदस्य