"विकिपीडिया:चौपाल" के अवतरणों में अंतर

इसलिए वर्तमान और नए सदस्यों से निवेदन है की इस मानक का ध्यान रखें और वर्तनी दोष को सुधारने का प्रयास करें। धन्यवाद। [[सदस्य:रोहित रावत|रोहित रावत]] १४:१३, १९ दिसंबर २००९ (UTC)
:: जी हाँ, बिल्कुल ठीक कह रहे हॅ आप --- पर आपने जो "निवेदन है '''की''' इस मानक का" में '''की''' का प्रयोग किया हॅ वहाँ '''कि''' होना चाहिए ----- क्या आप इसे जानते हॅं ? --[[विशेष:Contributions/122.177.205.81|122.177.205.81]] १५:३३, १९ दिसंबर २००९ (UTC)
 
 
देवनागरी के मानकीकरण के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय की 1963 में गठित वर्तनी समिति की महत्वपूर्ण और सर्वमान्य संस्तुतियों में शामिल संबंधित नियम-
 
जहाँ किसी वर्ग के पंचमाक्षर के बाद उसी वर्ग का कोइ वर्ण हो वहाँ अनुस्वार का ही प्रयोग किया जाय. जैसे- गंगा, अंत, वंदना, संपादक आदि।
<small><span style="border:1px solid magenta;padding:1px;">[[User:aniruddhajnu|<b>अनिरुद्ध</b>]][[User_talk:अनिरुद्ध|<font style="color:purple;background:lightgreen;"> &nbsp;वार्ता&nbsp;</font>]] </span></small> १७:५२, १९ दिसंबर २००९ (UTC)
 
==[[ब्लॉग]]==