"साँचा:निर्वाचित लेख नवंबर २००९" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
छो ("साँचा:निर्वाचित लेख नवंबर २००९" सुरक्षित कर दिया ([edit=sysop] (बेमियादी) [move=sysop] (बेमियादी)))
[[चित्र:Animal mitochondrion diagram hi.svg|right|120px|आक्सी श्वसन का क्रिया स्थल माइटोकान्ड्रिया]]<div style="font-size:95%;border:none;margin: 0;padding:.1em;color:#000">सजीव [[कोशिका|कोशिकाओं]] में भोजन के [[आक्सीकरण]] के फलस्वरूप [[ऊर्जा]] उत्पन्न होने की क्रिया को [[कोशिकीय श्वसन]] कहते हैं। यह एक [[केटाबोलिक क्रिया]] है, जो [[आक्सीजन]] की उपस्थिति या अनुपस्थिति दोनों ही अवस्थाओं में सम्पन्न हो सकती है। इस क्रिया के दौरान मुक्त होने वाली ऊर्जा को [[एटीपी]] नामक [[जैव अणु]] में संग्रहित करके रख लिया जाता है, जिसका उपयोग सजीव अपनी विभिन्न जैविक क्रियाओं में करते हैं। यह [[जैव-रासायनिक क्रिया]] [[पौधा|पौधों]] एवं [[जन्तु|जन्तुओं]] दोनों की ही कोशिकाओं में दिन-रात हर समय होती रहती है। कोशिकाएँ भोज्य पदार्थ के रूप में [[ग्लूकोज]], [[अमीनो अम्ल]] तथा [[वसीय अम्ल]] का प्रयोग करती हैं जिनको आक्सीकृत करने के लिए आक्सीजन का परमाणु [[इलेक्ट्रान]] ग्रहण करने का कार्य करता है। कोशिकीय श्वसन एवं श्वास क्रिया में अभिन्न सम्बंध है एवं ये दोनों क्रियाएँ एक-दूसरे की पूरक हैं।[[कोशिकीयदक्षिण श्वसनअमेरिका| '''विस्तार से पढ़ें'''...]]
<div>
28,109

सम्पादन