"डायरेक्ट ब्रॉडकास्ट सैटेलाइट" के अवतरणों में अंतर

डीटीएच की सबसे बड़ी खूबी है कि इसके द्वारा उपभोक्ताओं को आवश्यकता के अनुसार चैनल चुनने और उनका भुगतान करने की स्वतंत्रता मिलती है। यह केबल ऑपरेटर की सेवा के विपरीत है, जहां दर्शक चैनलों की संख्या या सेवा गुणवत्ता के बिना मासिक शुल्क देने को बाध्य होते हैं। <ref>[[बिग टीवी]] के मुख्य विपणन अधिकारी उमेश राव के अनुसार</ref> डीटीएच प्लेटफॉर्म के प्रति उपभोक्ताओं की दिलचस्पी बढ़ने का मुख्य कारण अत्यधिक उच्च गुणवत्ता है। डीटीएच सेवा उपभोक्ता को इसके माध्यम से आनेवाली सामग्री के नियंत्रण की लचीली व्यवस्था प्रदान करती है। इसके अलावा डीटीएच, [[कंडिशनल एक्सेस सिस्टम]] (सीएएस) और [[इंटरनेट प्रोटोकॉल टेलीविजन]] ([[आईपीटीवी]]) जैसे डिजिटल माध्यमों में ऐसी व्यवस्था होती है, कि उनकी पहुंच बच्चों तक होने से रोका जा सके।<ref name="जोश-२">[http://josh18.in.com/showstory.php?id=498512 अश्लील फिल्मों के टीवी प्रसारण को अनुमति सम्भव]।जोश १८।२८ अगस्त, २००९</ref>
 
===यूजर इंटरफेस===
उपभोक्ता को प्रोग्रामिंग के सागर में दिशा दिखाने वाली इलेक्ट्रॉनिक प्रोग्रामिंग गाइड (ईपीजी) का स्वरूप भी जरूरी होता है। उदाहरण के लिए बिग टीवी गाइड में चैनल को एल्फाबेट के अनुसार अथवा नंबर के रूप में व्यवस्थित किया जाता है। वीडियोकॉन इंटरफेस को बहुभाषा में देता है साथ ही उपभोक्ताओं के पास कुछ सीमा तक ऑन स्क्रीन को कस्टमाइज्ड करने का विकल्प होता है। एक अच्छा इंटरफेस, आपको एडवांस में ही कम से कम सात दिन पहले आने वाले प्रोग्राम्स के बारे में जानकारी उपलब्ध कराता है। वर्तमान में क्या चल रहा है और कई अन्य सुविधाएं भी इसमें शामिल होती हैं।
 
== कंडीशनल एक्सेस माडय़ूल ==