"लेंस" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् जोड़े गए ,  11 वर्ष पहले
 
==फ्रेनेल लेंस (Fresnel Lenses)==
{{मुख्य|फ्रेनेल लेंस]]}}
 
[[प्रकाशस्तंभप्रकाश स्तंभ]] (light houses) के लेंस बहुत बड़े और मोटे होते हैं। इतना बड़ा और मोटा लेंस पहले बताई गई रीति से बनाना संभव नहीं है। दूसरे, लेंस बड़ा तथा मोटा होने के कारण इतना भारी हो जाता है कि इतना भारी लेंस बनाना भी उचित नहीं है। सन् 1820 में [[ऑगस्टिन फ्रेनेल]] (Augustin Fresnel) ने प्रकाशस्तंभ में प्रयुक्त होनेवाले लेसों के बनाने की विधि बतलाई। उचित वक्रता की, काँच की छड़ों को अलग अलग घिसा और पॉलिश किया जाता है। फिर उन्हें एक धातु के फ्रेम में सिलसिलेवार जोड़कर प्रकाशस्तंभ का लेंस बनाया जाता है।
 
कभी-कभी काँच को गलाकर तथा साँचे में ढालकर भी फ्रेनेल लेंस बनाए जाते हैं। ऐसे लेंस पुंजप्रकाश (flood lights), रेल मार्ग (rail road), यातायात संकेत (traffic signal) इत्यादि में प्रयुक्त होते हैं। सन् 1945 के बाद प्लास्टिक पदार्थों को गलाकर पतले फ्रेनेल लेंस भी बनाए गए, जो प्राय: अभिक्षेत्र (fieled) लेंस के रूप में प्रयुक्त होते हैं।