"राइट बंधु" के अवतरणों में अंतर

8,303 बैट्स् जोड़े गए ,  10 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
{{Infobox Person
प्रमुख [[आविष्कारक]]।of aerplane in the nur cqjdwqnbje isag bga awi awbas gw bG SKGSYVFHS B HXFVHDSAF BZDSARNG SSUO GSAT
| name = ऑरविल राइट
| image = Orville Wright.jpg
| caption = १९०३ में लिया गया चित्र
| birth_date = {{birth date|1871|8|19|}}
| birth_place = [[डेटन, ओहायो]]
| death_date = {{Death date and age|1948|1|30|1871|8|19|}}
| death_place = [[डेटन, ओहायो]]
| occupation = प्रकाशक, बाइसिकल विक्रेता/निर्माता, हवाईजहाज आविष्कारक/निर्माता, पायलट प्रशिक्षक
| spouse = कोई नहीं
| signature = Orville Wright Signature.svg
}}
{{Infobox Person
| name = विलबर राइट
| image = Wilbur Wright.jpg
| caption = १९०३ में लिया गया चित्र
| birth_date = {{birth date|1867|4|16|}}
| birth_place = [[मिलविल, इंडियाना]]
| death_date = {{death date and age|1912|5|30|1867|4|16|}}
| death_place = [[डेटन, ओहायो]]
| occupation = प्रकाशक, बाइसिकल विक्रेता/निर्माता, हवाईजहाज आविष्कारक/निर्माता, पायलट प्रशिक्षक
| spouse = कोई नहीं
| signature = Wilbur Wright Signature.svg
}}
'''राइट बंधु''' (अंग्रेजी: Wright brothers), '''ऑरविल'''(अंग्रेजी: Orville, १९ अगस्त, १८७१ &ndash; ३० जनवरी, १९४८) और '''विलबर''' (अंग्रेजी: Wilbur, १६ अप्रैल, १८६७ &ndash; ३० मई, १९१२), दो [[अमरीका|अमरीकन]] थे जिन्हें [[हवाई जहाज]] का आविष्कारक माना जाता है।<ref>[http://www.nasm.si.edu/wrightbrothers/ स्मिथसोनियन संस्थान, "The Wright Brothers & The Invention of the Aerial Age"]</ref><ref>मेरी एन जॉनसन। [http://www.libraries.wright.edu/special/symposium/Johnson.html On the Aviation Trail in the Wright Brothers' West Side Neighborhood in Dayton, Ohio] राइट स्टेट युनिवर्सिटी, २००१</ref><ref name= "BBC News">[http://news.bbc.co.uk/2/hi/special_report/1998/11/98/great_balloon_challenge/299568.stm "Flying through the ages."] ''बीबीसी न्यूज़'', मार्च १९, १९९९। Retrieved: July 17, 2009.</ref> इन्होंने १७ दिसम्बर १९०३ को संसार की सबसे पहली सफल मानवीय हवाई उड़ान भरी जिसमें हवा से भारी विमान को नियंत्रित रूप से निर्धारित समय तक संचालित किया गया। इसके बाद के दो वर्षों में अनेक प्रयोगों के बाद इन्होंने संसार का पहला उपयोगी दृढ़-पक्षी विमान तैयार किया। ये प्रायोगिक विमान बनाने और उड़ाने वाले पहले आविष्कारक तो नहीं थे, लेकिन इन्होंने हवाई जहाज को नियंत्रित करने की जो विधियाँ खोजीं, उनके बिना आज का वायुयान संभव नहीं था।
 
इस आविष्कार के लिए आवश्यक यांत्रिक कौशल इन्हें मिला कई वर्षों तक [[प्रिंटिंग प्रेस]], [[बाइसिकल]], [[मोटर]] और अन्य कई मशीनों के साथ काम करते करते। बाइसिकल के साथ काम करते करते इन्हें विश्वास हो गया कि वायुयान जैसे असंतुलित वाहन को भी अभ्यास के साथ संतुलित और नियंत्रित किया जा सकता है।<ref>Crouch 2003, p. 169.</ref> १९०० से १९०३ तक इन्होंने [[ग्लाइडर|ग्लाइडरों]] पर बहुत प्रयोग किये जिससे इनका [[पायलट]] कौशल विकसित हुआ। इनके बाइसिकल की दुकान के कर्मचारी चार्ली टेलर ने भी इनके साथ बहुत काम किया और इनके पहले यान का इंजन बनाया। जहाँ अन्य आविष्कारक इंजन की शक्ति बढ़ाने पर लगे रहे, वहीं राइट बंधुओं ने शुरुआत से ही नियंत्रण का फार्मूला खोजने पर अपना ध्यान लगाया। इन्होंने वायु-सुरंग में बहुत से प्रयोग किए और सावधानी से जानकारी एकत्रित की, जिसका प्रयोग कर इन्होंने पहले से कहीं अधिक प्रभावशाली पंख और [[प्रोपेलर]] ईजाद किए।<ref>Jakab 1997, p. 156.</ref><ref>Crouch 2003, p. 228.</ref> इनके [[पेटेंट]] (अमरीकन पेटेंट नं 821,393) में दावा किया गया है कि इन्होंने वायुगतिकीय नियंत्रण की नई प्रणाली विकसित की है जो विमान की सतहों में बदलाव करती है।<ref name="Flying Machine patent">[http://www.google.com/patents?vid=USPAT821393&id=h5NWAAAAEBAJ&dq=821,393 उड़न यंत्र का पेटेंट]</ref>
 
अनेक अन्य आविष्कारकों ने भी हवाई जहाज के आविष्कार का दावा किया है, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि राइट बंधुओं की सबसे बड़ी उपलब्धि थी तीन-ध्रुवीय नियंत्रण का आविष्कार, जिसकी सहायता से ही पायलट विमान को संतुलित रख सकता है और दिशा-परिवर्तन कर सकता है।<ref>Padfield, Gareth D., Professor of Aerospace Engineering, and Lawrence, Ben, researcher. [http://pcwww.liv.ac.uk/eweb/fst/publications/2854.pdf "The Birth of Flight Control: An Engineering Analysis of the Wright Brothers’ 1902 Glider." (PDF format)] ''The Aeronautical Journal,'' Department of Engineering, The University of Liverpool, UK, December 2003, p. 697. Retrieved: 23 January 2008.</ref> नियंत्रण का यह तरीका सभी विमानों के लिये मानक बन गया और आज भी सब तरह के दृढ़-पक्षी विमानों के लिए यही तरीका उपयुक्त होता है।<ref>Howard 1988, p. 89.</ref><ref>Jakab 1997, p. 183.</ref>
 
==संदर्भ==
<references />
 
==बाहरी कड़ियाँ==
* [http://hindizen.com/2009/06/01/%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%87%E0%A4%9F-%E0%A4%AC%E0%A4%82%E0%A4%A7%E0%A5%81-%E0%A4%94%E0%A4%B0-%E0%A4%B5%E0%A4%BF%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%A8-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A4%B9%E0%A4%BE/ राइट बंधु और विमानन की कहानी]
* [http://hindi.samaylive.com/news/57370/57370.html राइट बंधुओं के जज्बे का नतीजा थी विमान की पहली उड़ान]
 
[[श्रेणी:आविष्कारक]]
{{आधार}}
 
[[an:Chirmans Wright]]
1,253

सम्पादन