"गुजरी महल" के अवतरणों में अंतर

4 बैट्स् जोड़े गए ,  11 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
(गुजरी महल)
 
''सुनने की फुर्सत हो तो आवाज़ है पत्थरों में,
''उजड़ी हुई बस्तियों में आबादियां बोलती हैं...''''
40

सम्पादन