"सम-ऊँगली खुरदार" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  11 वर्ष पहले
(नया पृष्ठ: right|200px|thumb|ऊँट की खुर '''द्विखुरीयगण''' (आर्टियोडैक्टाइल...)
 
* [[नीलगाय]] (पोर्टेंक्स पिक्टस, portex pictus) - भारत में यह सर्वत्र खुले भूभागों में पाई जाती है, पर यह उत्तर-पश्चिम और मध्य भागों में बहुतायत से मिलती हैं। यह बैर, आँवला आदि की पत्तियों और उनके फलों पर निर्वाह करती हैं।
 
4. '''गो वंश''' (Bos) - इस वंश के पशुओं का शरीर सुगठित होता है और जुगाली करनेवाले अन्य पशुओं की अपेक्षा इनकी दुम लंबी हाती है। इनके थूथन लंबा, नम और निराकरण होता है। नर और मादा दोनों को सींग होते हैं, तथा चेहरे या पैर पर ग्रंथियाँ नहीं होतीं। ये सभी स्तनपायियों में उत्कृष्ट हैं, अधिकतर घास खाते हैं और पानी तथा नमक पसंद करते हैं। इनकी कुछ भारतीय जातियाँ निम्नलिखित हैं :
 
* भारतीय गाय (Bos Indicus) - यह विविध रंगों में पाया जानेवाला यह पालतू पशु है। इस जाति की गाय यूरोपीय गाय से इस दृष्टि से भिन्न होती है कि इसके सींग यूरोपीय गायों से कम फैले और पीछे की ओर अधिक मुड़े होते हैं। इसके एक वसामय कूबड़ भी होता है। दूध देनेवाले पशु के रूप में यह अतिशय उपयोगी है। अफ्रीका और दक्षिण पूर्वी एशिया पूर्वी एशिया में यह सर्वत्र पाई जाती है।