"डायरेक्ट ब्रॉडकास्ट सैटेलाइट" के अवतरणों में अंतर

छो
removed {{आधार}}
छो (साँचा {{आधार}})
छो (removed {{आधार}})
 
{{आधार}}
{{आज का आलेख}}
[[File:SatelliteDishes-5375.jpg|thumb|200px|घरों के ऊपर डीटीएच की डिश]]
 
==इतिहास==
[[चित्र:Sun_tv_DTHSun tv DTH.jpg|thumb|200px|[[सन डायरेक्ट डीटीएच]] का प्रतीक]]
[[चित्र:Dish_tv_DTHDish tv DTH.jpg|thumb|200px|[[डिश टीवी]] डीटीएच का प्रतीक]]
[[चित्र:Big_tv_DTHBig tv DTH.jpg|thumb|200px|[[बिग टीवी]] डीटीएच का प्रतीक]]
[[चित्र:Tatasky_tv_DTHTatasky tv DTH.jpg|thumb|200px|[[टाटा स्काई]] डीटीएच का प्रतीक]]
दूरदर्शन की यात्रा टेरिस्टेरियल प्रसारण से आरंभ हुई और केबल नेटवर्क से आगे बढ़ते हुए डायरेक्ट टू होम(डीटीएच) पर पहुंच चुकी है, जिसने आम उपभोक्ताओ को एक साथ कई विकल्प दिए हैं। बदलती प्रौद्योगिकी से दूरदर्शन चैनलों की संख्या में लगातार बढोत्तरी हो रही है और आनेवाले समय में चैनलों की संख्या के ५०० के भी पार होने की संभावना है।<ref name="जोश">[http://josh18.in.com/showstory.php?id=542312 डीटीएच के विस्तार से बदलेगी टेलीविजन की दुनिया]|जोश १८।२४ नवंबर, २००९</ref>[[१९६२]] में पहला उपग्रह टेलिविजन सिग्नल [[यूरोप]] से टेलिस्टार उपग्रह से [[उत्तरी अमेरिका]] में प्रसारित किया गया था। विश्व का पहला व्यवसायिक संचार उपग्रह इंटेलसैट-१६ [[अप्रैल]] [[१९६५]] में लांच किया गया था। डीटीएच के विकास में इन तीन कदमों का महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। पहले डीटीएच टीवी प्रसारण को इकरान नाम दिया गया था। यह १९७६ में तत्कालीन सोवियत [[रूस]] में प्रसारित हुआ था। भारत में [[१९९६]] में डीटीएच सेवाओं को लागू करने का प्रस्ताव आया था, और २००० में इसके प्रसारण आरंभ हुए।
 
 
{{भारत में टीवी}}{{भारत की दूरसंचार कंपनियां}}
 
[[श्रेणी:टीवी चैनल]]
[[श्रेणी:संचार उपग्रह]]
 
[[de:Fernsehsatellit]]
[[nl:Omroepsatelliet]]
[[ja:放送衛星]]
[[nl:Omroepsatelliet]]
[[pt:DTH]]
[[ru:DTH]]
1,94,421

सम्पादन