"गौड़ीय वैष्णव संप्रदाय" के अवतरणों में अंतर

छो
The file Image:Chaitanya_Mahaprabhu.jpg has been removed, as it has been deleted by commons:User:Martin H.: ''Copyright violation: dervative of windows wallpaper + flickr washing''. ''[[m:User:Commo
छो
छो (The file Image:Chaitanya_Mahaprabhu.jpg has been removed, as it has been deleted by commons:User:Martin H.: ''Copyright violation: dervative of windows wallpaper + flickr washing''. ''[[m:User:Commo)
 
[[Image:Chaitanya Mahaprabhu.jpg|thumb|right|200px|[[चैतन्य महाप्रभु]]]]
'''गौड़ीय वैष्णव संप्रदाय''' की आधारशिला [[चैतन्य महाप्रभु]] के द्वारा रखी गई। उनके द्वारा प्रारंभ किए गए महामंत्र नाम संकीर्तन का अत्यंत व्यापक व सकारात्मक प्रभाव आज पश्चिमी जगत तक में है।कृष्णकृपामूर्ती श्री श्रीमद् अभयचरणारविन्द [[भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद]] को गौड़ीय वैष्णव संप्रदाय के पश्चिमी जगत के आज तक के सर्वश्रेष्ठ प्रचारक माने जाते हैं।