"विकिपीडिया:लेख का नाम कैसे रखें" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
 
*अंग्रेजी के ऍक्रोनिम/लघु रुपों हेतु रोमन लिपि में लघु नाम वाले पन्ने बनायें तथा फिर उसे हिन्दी में पूरे नाम पर पुनर्निर्देशित कर दें। उदाहरण के लिये [[आइपीए]] को [[अन्तर्राष्ट्रीय ध्वन्यात्मक वर्णमाला]] पर रीडायरैक्ट कर दें, [[यूऍनओ]] को [[संयुक्त राष्ट्र संघ]] पर आदि। दूसरे शब्दो में यदि लेख के शीर्षक का कोई प्रचलित संक्षिप्त नाम (abbreviation) है तो उसे पूरे नाम वाले पन्ने की ओर पुनर्निर्देशित कर देना चाहिये। उदाहरण: [[आइपीए]] को [[अन्तर्राष्ट्रीय ध्वन्यात्मक वर्णमाला]] पर।<br><br>हिन्दी में संक्षिप्त नाम यथा ''सं० रा० सं०'' सही नहीं लगता, हालाँकि जब लघुरुप वाला नाम ही मुख्यतया प्रचलित हो तो उस नाम से भी लेख बना सकते हैं जैसे [[आइआरसी]]।<br><br>लेख के नाम में यदि किसी शब्द का संक्षिप्त रुप लिखना पड़े तो उपयुक्त चिह्न, लाघव चिह्न (०) का उपयोग किया जाना चाहिये, फुलस्टॉप (.) का नहीं। देखें, [[हिन्दी में सामान्य गलतियाँ#फुलस्टॉप तथा लाघव चिह्न की गलती]]। उदाहरण: [[डॉ० राजेन्द्र प्रसाद]] लिखें, [[डॉ. राजेन्द्र प्रसाद]] नहीं।
 
*संक्षिप्त नाम (abbreviation) में संक्षिप्त चिह्न (॰) का प्रयोग एकाधिक शब्द खण्ड होने पर ही करें। एक शब्द खण्ड होने पर बिना संक्षिप्त चिह्न के लिखें। उदाहरण: एक शब्द खण्ड - ''USB'' के लिये ''यूऍसबी'' लिखें ''यू॰ ऍस॰ बी॰'' नहीं। दो शब्द खण्ड - ''B.Ed.'' के लिये ''बी॰ ऍड॰'' लिखें।
 
*सामान्यतया संस्कृत शब्दों के अन्त में आने वाले हलन्त को छोड़ा जा सकता है अर्थात ''संसद्'' के स्थान पर ''संसद'', ''महान्'' के स्थान पर ''महान'' चल सकता है। हालाँकि लेख का शीर्षक यदि शुद्ध रुप में हलन्त युक्त हो तो वही रखें जैसे [[रामेश्वरम्]] एवं बिना हलन्त वाले नाम को हलन्त वाले पर पुनर्निर्देशित कर दें।
6,980

सम्पादन