"अनंत पई": अवतरणों में अंतर

18 बाइट्स जोड़े गए ,  11 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
(नया पृष्ठ: 300px|right|thumb|महान कार्टूनकर्ता अनन्त पई '''अनंत पई''' (17 सितम...)
 
No edit summary
[[चित्र:Ananta Pai.jpg|300px|right|thumb|महान कार्टूनकर्ता अनन्त पई]]
 
'''अनंत पई''' (17 सितम्बर 1929, कारकला[[कार्कल]], [[कर्नाटक]] — 24 फरवरी 2011, [[मुंबई]]), जो '''अंकल पई''' के नाम से लोकप्रिय थे, भारतीय शिक्षाशास्री और कॉमिक्स, ख़ासकर [[अमर चित्र कथा]] श्रृंखला, के रचयिता थे । इंडिया बुक हाउज़ प्रकाशकों के साथ 1967 में शुरू की गई इस कॉमिक्स श्रृंखला के ज़रिए बच्चों को परंपरागत भारतीय लोक कथाएँ, पौराणिक कहानियाँ और ऐतिहासिक पात्रों की जीवनियाँ बताई गईं । 1980 में ''टिंकल'' नामक बच्चों के लिए पत्रिका उन्होंने रंग रेखा फ़ीचर्स, भारत का पहला कॉमिक और कार्टून सिंडिकेट, के नीचे शुरू की. 1998 तक यह सिंडिकेट चला, जिसके वो आख़िर तक निदेशक रहे ।
 
दिल का दौरा पड़ने से 24 फरवरी 2011 को शाम के 5 बजे अनंत पई का निधन हो गया ।
==शुरुआती ज़िन्दगी और शिक्षा==
 
[[कर्नाटक]] के कारकला[[कार्कल]] शहर में जन्मे अनंत के माता पिता का देहांत तभी हो गया था, जब वो महज दो साल के थे । वो 12 साल की उम्र में मुंबई आ गए । [[मुंबई विश्वविद्यालय]] से दो डिग्री लेने वाले पई का कॉमिक्स की तरफ़ रुझान शुरु से था लेकिन अमर चित्रकथा की कल्पना तब हुई, जब वो [[टाइम्स ऑफ इंडिया]] के कॉमिक डिवीजन से जुड़े ।
 
==कृतियाँ==
32

सम्पादन