शव कामुकता

लाशों को यौन आकर्षण

किसी शव के साथ सेक्स करने की इच्छा को शव कामुकता कहते हैं। रोज़्मैन और रेज़्निक नामक दो विद्वानों ने 1989 में इस मानसिक रोग के 34 मामलों का अध्धयन किया। उन्होंने पाया कि शवप्रेमी कई कारणों से लाश के साथ सेक्स करते हैं -

  • एक ऐसे साथी की चाह जो न उन्हें अस्वीकारे, न उनका विरोध करे (68%)
  • एक प्रेमी के साथ पुनर्मिलन की इच्छा (21 %)
  • लाशों के प्रति यौन आकर्षण (15%)
  • अकेलापन दूर करने के लिए (15%)
  • मरे हुए व्यक्ति के ऊपर अधिकार जमाकर अपना आत्म-सम्मान बढ़ाने की चाह (12%)[1]
1896 की इस इतालियन पेंटिंग में आप देख सकते हैं एक सरफिरे शवप्रेमी को
शैतान नर तेगु मरी हुई मादा तेगु के साथ मज़े ले रहा है

इंसानो के अलावा शव कामुकता को स्तनधारी जानवरों, पक्षियों, सरीसृप जानवरों और मेंढ़कों में देखा गया है।[2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Rosman, J. P.; Resnick, P. J. (1 June 1989). "Sexual attraction to corpses: A psychiatric review of necrophilia". Bulletin of the American Academy of Psychiatry and the Law. 17 (2): 153–163. PMID 2667656. मूल (PDF/HTML) से 16 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 जनवरी 2017.
  2. de Mattos Brito, L. B., Joventino, I. R., Ribeiro, S. C., & Cascon, P. (2012). "Necrophiliac behavior in the "cururu" toad, Rhinella jimi Steuvax, 2002, (Anura, Bufonidae) from Northeastern Brazil" (PDF). North-Western Journal of Zoology. 8 (2): 365. मूल (PDF) से 5 फ़रवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 जनवरी 2017.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: authors list (link)