शाश्वत गति (perpetual motion) का शाब्दिक अर्थ है - वह गति जो सदा चलती रहती है। किन्तु प्राय: इसका अर्थ ऐसी किसी युक्ति या प्रणाली से है जो कम ऊर्जा लेकर अधिक ऊर्जा उत्पन्न करती है - जिसका अर्थ है कि यह अनन्त काल तक कुछ न कुछ 'शुद्ध (नेट) ऊर्जा' उत्पन्न करती रहती है। ऐसी मशीन की कल्पना और निर्माण का प्रयत्न बहुत दिनों तक चला किन्तु अब यह मान लिया गया है कि ऐसी मशीन सम्भव नहीं है क्योंकि यदि ऐसा हुआ तो वह ऊर्जा संरक्षण का नियम का उलंघन होगा।

रॉबर्ट फ्लड (Robert Fludd) की सन् १६१८ में बनी वाटर स्क्रू नामक निरन्तर-गति मशीन का सन् १६६० में निर्मित लकड़ी पर नक्काशी

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें