शीतल राणे महाजन एक भारतीय महिला स्काईडाइविंग एडवंचरिस्ट हैं। वे सात महाद्वीपों में स्काईडाइविंग कर चुकी हैं, जिसके लिए उन्हें एयरो क्लब ऑफ इंडिया ने पिछले साल उन्हें प्रतिष्ठित साबिहा गोक्सेन मेडल के लिए नामित किया था। स्काईडाइविंग में 18 नेशनल और 6 से ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड उनके नाम हैं। दुनियाभर में अब तक वे 704 जंप लगा चुकी हैं। उन्होने अप्रैल, 2004 में एडवेंचर स्पोर्ट की शुरुआत की। तब उन्होंने नॉर्थ पोल पर माइनस 37 डिग्री टेम्परेचर में 2400 फीट से छलांग लगाई। 2016 में एंटार्कटिका में 11,600 फीट से जंप किया। तब शीतल की उम्र महज 23 साल थी और ऐसा करने वाली दुनिया की पहली और यंगेस्ट महिला बनीं। अभी हाल ही में उन्होने नऊवारी साड़ी पहनकर स्काइ डाइव करके थाइलैंड में एक खास रिकार्ड अपने नाम किया है। [1]

शीतल राणे महाजन
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय स्काईडाइविंग एडवंचरिस्ट
पुरस्कार पद्मश्री

शीतल राणे महाराष्ट्र के पुणे की निवासी हैं। उनके दो जुड़वां बेटे हैं, जिनकी उम्र 9 वर्ष है।वे पद्मश्री से सम्मानित हैं।[2]

सन्दर्भसंपादित करें