अखिल भारतीय राजभाषा संगोष्ठी धनबाद (झारखंड) - 2020[1]संपादित करें

हिंदी भारत की राजभाषा है। भारत के संविधान के अनुच्छेद 351 के अंतर्गत हिंदी भाषा का प्रचार-प्रसार बढ़ाने और इसका विकास करने के निर्देश दिए गए हैं। इसको ध्यान में रखते हुए नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति धनबाद द्वारा प्रतिवर्ष राष्ट्रीय स्तर का राजभाषा सम्मेलन आयोजित किया जाता है। नराकास धनबाद द्वारा इसी परंपरा का निर्हवन करते हुए दिनांक 16 व 17 जनवरी, 2020 को अखिल भारतीय स्तर पर ‘दो दिवसीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन’ का आयोजन श्री पी. एम. प्रसाद, अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, भारत कोकिंग कोल लिमिटेड एवं अध्यक्ष, नराकास धनबाद की अध्यक्षता में आयोजित किया जाएगा।

कार्यक्रम का विवरण निम्नानुसार है:-

स्थल : सामुदायिक भवन (निकट साईं बाबा मंदिर), कोयला नगर, धनबाद, झारखंड – 826005

तिथि : दिनांक 16-17 जनवरी, 2020 (बृहस्पतिवार-शुक्रवार)

भागीदारी : केंद्रीय सरकार के अंतर्गत आने वाले समस्त मंत्रालय, कार्यालय, बैंक, उपक्रम, स्वायत्त निकाय, परिषद, निगम, बोर्ड आदि प्रत्येक| ‘’प्रथम आओ, प्रथम पाओ” के आधार पर केवल 500 प्रतिभागियों का नामांकन किया जाएगा|

ठहरने की व्यवस्था: कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को धनबाद में अपने ठहरने और सम्मेलन स्थल पर पहुँचने की व्यवस्था स्वयं करनी होगी|

प्रदर्शनी : इस अवसर पर 20 कार्यालयों द्वारा नि:शुल्क राजभाषा प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जा सकता है| प्रदर्शनी लगाने के इच्छुक कार्यालयों के लिए “प्रथम आओ, प्रथम पाओ” आधार पर सम्मेलन स्थल पर स्टॉल की व्यवस्था की जाएगी|

प्रतिभागियों द्वारा आलेख प्रस्तुतीकरण : उक्त राजभाषा सम्मेलन में दिनांक 16 जनवरी, 2020 को प्रतिभागियों को निम्नलिखित में से किसी एक विषय पर आलेख प्रस्तुतीकरण के लिए समय दिया जाएगा| आलेख प्रस्तुत करने वाले प्रतिभागी अपना पूर्ण आलेख की सूचना दिनांक 25 दिसंबर, 2019 तक फोन नंबर – 9470595479 पर भेज दें| समिति द्वारा चयनित सर्वोत्तम 10 आलेखों को सत्र में प्रस्तुत करने के लिए 5 मिनट प्रति आलेख का समय दिया जाएगा | आलेख के विषय:

1.   हिन्दी की वैश्विक यात्रा 2. कार्यालयीन हिंदी का स्वरूप 3. हिंदी के प्रयोग में व्यवहारिक समस्याएँ और समाधान 4. राष्ट्रीय एकता और हिंदी 5. हिन्दी का तकनीकी विकास

नामांकन/पंजीकरण शुल्क: उपर्युक्त कार्यक्रम में भाग लेने के लिए “प्रथम आओ, प्रथम पाओ” के आधार पर केवल 500 प्रतिभागियों के लिए नामांकन/पंजीकरण स्वीकार किए जायेंगे| इसलिए जल्द से जल्द नामांकन भेजने की कृपा करें| उक्त सम्मेलन में भाग लेने के लिए प्रत्येक प्रतिभागी के लिए ₹2500/- (दो हजार पाँच सौ रुपए मात्र) का शुल्क निर्धारित है| प्रतिभागिता शुल्क SACHIW NAGAR RAJBHASHA KARWYANAYAN SAMITI, A/C NO. 10229058583, IFSC CODE- SBIN0006214, MICR-826002011, BRANCH CODE-6214, STATE BANK OF INDIA, BCCL TOWNSHIP BRANCH, KOYLA NAGAR, DHANBAD बैंक खाते में जमा करवाना होगा| वैकल्पिक रूप से चेक भी स्वीकार किए जाएंगे| कृपया प्रतिभागी का नाम व कार्यालय का नाम, जमा की गई राशि, जमा की गई तिथि, बैंक का नाम आदि का विवरण फोन नंबर - 9470595479 पर फैक्स - 0326-2230262 पर अवश्य भेज दें| तभी कार्यक्रम के लिए पंजीकरण स्वीकार किया जाएगा|

रूपरेखा :

दिनांक 16 जनवरी, 2020 (बृहस्पतिवार)

प्रतिभागियों का पंजीकरण एवं चाय                                                                     09.30 – 10.30 पू.

प्रथम सत्र         - उदघाटन सत्र                                                                        10.30 – 11.30 पू.

चायकाल                                                                                                          11.30 – 11.45 पू.

द्वितीय सत्र                                                                                                       11.45 – 01.30 अप.

विषय:  राजभाषा हिंदी के विविध आयाम

मध्याह्न भोजन                                                                                                   01.30 – 02.30 अप.

तृतीय सत्र                                                                                                        02.30 – 04.00 अप.

विषय: हिन्दी साहित्य लेखन में आधुनिक प्रवृत्तियाँ

चतुर्थ सत्र                                                                                                         04.00 – 05.00 अप.

आलेख प्रस्तुतीकरण

कवि सम्मेलन                                                                                                 07.00 – 09.00 अप.

दिनांक 17 जनवरी, 2020 (शुक्रवार)

पांचवा सत्र                                                                                                       10.30 – 12.00 पू.

विषय : भारतीय भाषाओं के संदर्भ में  प्रौद्योगिकी विकास

छठा सत्र                                                                                                          12.00 – 01.30 अप.

विषय: हिंदी: दशा, दिशा और भविष्य

मध्याह्न भोजन                                                                                                   01.30 – 02.30 अप.

शैक्षणिक भ्रमण                                                                                                                      

उक्त सत्रों में व्याख्यान देने वालों संकाय सदस्यों की सूचना बाद में दी जाएगी| यदि आपका इस राजभाषा सम्मेलन के प्रायोजक के रूप प्रतिभागिता करना चाहते हैं, तो सीधे संपर्क कर सकते हैं|

राजभाषा सम्मेलन में प्रतिभागिता के लिए आपके सकारात्मक प्रत्युत्तर की प्रतीक्षा में|

  1. "होम". sites.google.com. अभिगमन तिथि 2019-12-02.