श्यांगची ( 象棋, p Xiàngqí) चीन में खेले जाने वाले शतरंज के खेल को कहते हैं जो पश्चिमी और मूल भारतीय शतरंज से थोड़ा अलग है। इसका चलन पहली सदी से माना जाता है [1]। भारतीय (और पश्चिमी शतरंज) के अलावे इसमें दो गोले अलग से होते हैं जिनकी चाल घोड़े से मिलती है। खेल में दो टीमों के बीच में एक नदी होती है जिसे सभी मोहरे लांघ नहीं सकते।

शांगची में मोहरों की आरंभिक स्थिति - बीच की नदी बाकी शतरंजों के स्पष्टतया भिन्न है

गोले का जोड़ इसमें आठवीं सदी में तांग शासन के प्रधानमंत्री ने किया।

सत्रहवीं सदी में जिंज़ें ज़ू की लिखी पुस्तक नारंगी के अंतः रहस्य इसके प्रचलित चालों और दावों को जानने के लिए एक प्रयुक्त पुस्तक है।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. lau, H (1990). Chinese Chess. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780804835084.