श्रवणविज्ञान (Audiology) विज्ञान की वह शाखा है जिसमें श्रव्यता (सुनने की क्षमता) तथा कानों के प्रयोग से शारीरिक संतुलन और इन से सम्बन्धित रोगों व विकारों का अध्ययन करा जाता है। श्रवणवैज्ञानिकों का एक मुख्य कार्य सुनने की शक्ति कम होने या खो जाने वाले लोगों की सहायता करना व श्रव्यता की रक्षा करना है।[1][2]

Image showing an audiologist testing the hearing of a patient inside a hearing booth and using an audiometer
श्रवण परिक्षण

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Gelfand, Stanley A. (2009). Essentials of Audiology (3 संस्करण). New York: Thieme Medical Publishers, Inc. पृ॰ ix. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-60406-044-7. मूल से 2 अप्रैल 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 March 2015.
  2. Berger, KW (1976). "Genealogy of the words "audiology" and "audiologist"". Journal of the American Audiology Society. 2 (2): 38–44. PMID 789309.