श्रवण या ऐल्टेयर, जिसका बायर नाम "अल्फ़ा अक्विला" (α Aquila या α Aql) है, गरुड़ तारामंडल का सब से रोशन तारा है। यह पृथ्वी से दिखने वाले सब से रोशन तारों में से बारहवाँ सब से रोशन तारा है। यह एक A श्रेणी का मुख्य अनुक्रम तारा है। श्रवण बहुत तेज़ी से घूर्णन करता है (यानि अपने अक्ष पर घूमता है) - इसकी मध्य रेखा पर इसके घूर्णन की रफ़्तार 286 किलोमीटर प्रति सैकिंड है, जिस वजह से इसका गोल अकार ध्रुवों पर पिचक गया है।[1] श्रवण पृथ्वी से लगभग 16.8 प्रकाश वर्ष की दूरी पर हैं।

श्रवण और सूरज के आकारों की तुलना - सूरज पीला वाला गोला है

अन्य भाषाओँ मेंसंपादित करें

श्रवण को अंग्रेज़ी में "ऐल्टेयर" (Altair) कहते हैं। यह नाम अरबी भाषा के "النسر الطائر‎" ("अन-नस्र अन-ताईर") वाक्यांश से लिया गया है जिसका मतलब है "उड़ती हुई चील"।

विवरणसंपादित करें

श्रवण का व्यास (डायमीटर) सूरज के व्यास का 1.63 - 2.03 गुना है (यानि इसपर थोड़ा मतभेद है) और इसका द्रव्यमान (मास) सौर द्रव्यमान का 1.79 गुना है। इसकी चमक (यानि निरपेक्ष कान्तिमान) सूरज से 10.6 गुना है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Resolving the Effects of Rotation in Altair with Long-Baseline Interferometry, D. M. Peterson et al., The Astrophysical Journal 636, #2 (January 2006), pp. 1087–1097, doi:10.1086/497981; see Table 2 for stellar parameters.