संजय राजवंश जावा में एक राजवंश था जिसने प्रथम सहस्राब्दी के दौरान यहाँ माताराम राज्य पर शासन किया। ये जावा में हिन्दू धर्म के सक्रिय रूप से बढ़ावा देने वालों में थे। जावा में तत्कालीन बौद्ध धरमनुयाई शैलेन्द्र राजवंश के विपरीत ये शैव मत के अनुयाई थे।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Pokhriyal ‘Nishank’, Ramesh (2020). Bharatiya Sanskriti Ka Samvahak Indonesia. Prabhat Prakashan. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-93-5322-624-4.