एक ही अक्षर (सिलैबल) में मौजूद दो क्रमागत स्वर ध्वनियों को कहते हैं संध्यक्षर या द्विस्वर संध्यक्षर (संधि + अक्षर, या diphthong) कहते हैं।