भारतीय संस्था पंजीकरण अधिनियम-1860, भारत में ब्रिटिश राज के अंतर्गत अधिस्थाओं का पंजीकरण कराया या किया जा सकता है।

इस अधिनियम के तहत, साहित्यिक, वैज्ञानिक, धर्मार्थ या सामाज कल्याण के उद्देश्य से जुड़े कोई भी सात व्यक्ति एक संस्था के बहिर्नियम के द्वारा एक संस्था गठित कर सकते थे।

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

Indian Societies Registration Act

On-line Society Registration