मुख्य मेनू खोलें

हिन्दू राजाओं के इसी कार्यालय प्रधान को सचिव कहा जाता था। मराठा साम्राज्य के दफ़तरों (कार्यालय के कर्मचारियों) को सचिव कहते थे।

आजकल किसी बड़े अधिकारी या विभाग का वह व्यक्ति जो अभिलेख आदि सुरक्षित रखता हो। और मुख्य रूप से पत्र व्यवहार aur gopniye kam karta ho आदि की व्यवस्था करता हो। (सेक्रेटरी) विशेष—प्राचीन भारत में, मंत्री और सचिव प्रायः समानार्थक शब्द माने जाते थे, परंतु आजकल सचिव से मंत्री पद भिन्न होता है। मंत्री का काम मंत्रणा या परामर्श देना होता है। परंतु सचिव को कोई ऐसा अधिकार नहीं होता है।