स्वागत! Crystal Clear app ksmiletris.png नमस्कार Rana Nina जी! आपका हिन्दी विकिपीडिया में स्वागत है।

-- नया सदस्य सन्देश (वार्ता) 08:00, 22 मई 2019 (UTC)[]

पृष्ठ मंडिया भील शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ मंडिया भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व1 • अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाले पृष्ठ

इस को विकिपीडिया पर पृष्ठों को हटाने की नीति के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है। इसका नामांकन निम्न मापदंड के अंतर्गत किया गया है:

व1 • अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाले पृष्ठ इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिनका नाम अर्थहीन है, उदाहरण:"स्द्ग्फ्द्ग"; अथवा जिनमें सामग्री अर्थहीन है, चाहे उसका नाम अर्थहीन न हो, उदाहरण:लेख जिसमें सामग्री है:"ध्ब्द्फ्ह्फ़" यदि यह लेख इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता तो कृपया यह नामांकन टैग हटा दें। स्वयं बनाए पृष्ठों से नामांकन न हटाएँ। यदि यह आपने बनाया है, और आप इसके नामांकन का विरोध करते हैं, तो इसके हटाए जाने पर आपत्ति करने के लिए नीचे दिये बटन पर क्लिक करें। इससे आपको इस नामांकन पर आपत्ति जताने के लिये एक पूर्व-स्वरूपित जगह मिलेगी जहाँ आप इस पृष्ठ को हटाने के विरोध का कारण बता सकते हैं। ध्यान रखें कि नामांकन के पश्चात् यदि यह पृष्ठ किसी वैध मापदंड के अंतर्गत नामांकित है तो इसे कभी भी हटाया जा सकता है। अगर यह पृष्ठ हटाया नहीं गया है तो आप इसको सही कर सकते हैं ताकि यह विकिपीडिया के नियम के तहत विकिपीडिया पर खरा उतरेl Mayank123456 srivastava --- बातचीत --- 12:00, 23May 2019 (UTC) Lovehai (वार्ता) 15:18, 20 मई 2019 (UTC)[]

तगाराम भील पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, तगाराम भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/तगाराम भील पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनियता नहीं।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--माला चौबेवार्ता 09:15, 11 जून 2019 (UTC)[]

जून 2019संपादित करें

  कृपया लेखों से हटाने हेतु नामांकन की सूचनाहटाने हेतु चर्चा पृष्ठ से अन्य सदस्यों की टिप्पणियाँ न हटायें, जैसा कि आपने कोटिया भील पर किया। ऐसा करने से चर्चा बंद नहीं होगी। आपका चर्चा पृष्ठ पर प्रस्तावित विलोपन के बारे में टिप्पणी करने के लिए स्वागत है। धन्यवाद। अशोक   वार्ता 10:40, 17 जून 2019 (UTC)[]

राजा डूँगरीया भील पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, राजा डूँगरीया भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/राजा डूँगरीया भील पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीय नहीं

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--SM7--बातचीत-- 04:06, 3 सितंबर 2019 (UTC)[]

राजा आशा भील पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, राजा आशा भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/राजा आशा भील पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीय नहीं

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--SM7--बातचीत-- 04:07, 3 सितंबर 2019 (UTC)[]

आशा भील के बारे में अहमदाबाद की ऑफिशियल गवर्नमेंट वेबसाइट पर जानकारी दी गई है । Rana Nina (वार्ता) 06:14, 6 अप्रैल 2020 (UTC)[]

Community Insights Surveyसंपादित करें

RMaung (WMF) 15:52, 9 सितंबर 2019 (UTC)[]

Reminder: Community Insights Surveyसंपादित करें

RMaung (WMF) 19:33, 20 सितंबर 2019 (UTC)[]

Reminder: Community Insights Surveyसंपादित करें

RMaung (WMF) 17:29, 4 अक्टूबर 2019 (UTC)[]

हिरिया भील पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, हिरिया भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/हिरिया भील पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीयता हेतु पर्याप्त प्रमाण और स्रोत नहीं।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--SM7--बातचीत-- 16:08, 24 नवम्बर 2019 (UTC)[]

राजा विश्वासु भील पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, राजा विश्वासु भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/राजा विश्वासु भील पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीयता हेतु पर्याप्त प्रमाण और स्रोत संदर्भ नहीं।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--SM7--बातचीत-- 16:08, 24 नवम्बर 2019 (UTC)[]

भील इतिहास पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, भील इतिहास को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/भील इतिहास पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

मूल शोध।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।हिंदुस्थान वासी वार्ता 15:45, 2 जनवरी 2020 (UTC)[]

चित्र:मालवा भील कॉर्प्स.jpg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:मालवा भील कॉर्प्स.jpg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

हिंदुस्थान वासी वार्ता 16:01, 2 जनवरी 2020 (UTC)[]

आपके योगदानसंपादित करें

आप कई अनुल्लेखनीय लेखों का लगातार निर्माण कर रहे हैं। ये आपकी अंतिम चेतावनी है, ऐसा करना तुरंत रोकें। कृपया विकिपीडिया:उल्लेखनीयता के अनुसार ही लेख बनायें।--हिंदुस्थान वासी वार्ता 16:03, 2 जनवरी 2020 (UTC)[]

चित्र:मेवाड़ चिन्ह.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:मेवाड़ चिन्ह.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़4 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़4 • ग़ैर मुक्त उचित उपयोग उपयोग फ़ाइल जिसपर कोई उचित उपयोग औचित्य न दिया हो

ऐसी कॉपीराइट सुरक्षित फ़ाइलें जिनपर 7 दिन तक कोई उचित उपयोग औचित्य न दिया हो, उन्हें इस मापदंड के अंतर्गत हटाया जा सकता है।

यदि आपने इस फ़ाइल को किसी लेख में प्रयोग करने हेतु अपलोड किया था तो कृपया उस लेख में उपयोग उचित उपयोग (fair use) में क्यों आता है, इसके लिये एक औचित्य (fair use rationale) फ़ाइल पृष्ठ पर लिखें। विकिपीडिया पर कॉपीराइट सुरक्षित फ़ाइलों को तभी रखा जा सकता है यदि उनका उपयोग "उचित उपयोग" (fair use) के अंतर्गत आता हो और उनपर एक उचित उपयोग औचित्य (fair use rationale) दिया हो।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 11:45, 7 जनवरी 2020 (UTC)[]

चित्र:Images - 2019-12-28T105304.797.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:Images - 2019-12-28T105304.797.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 04:31, 27 जनवरी 2020 (UTC)[]

चित्र:मांडलगढ़.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:मांडलगढ़.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 04:31, 27 जनवरी 2020 (UTC)[]

राजा राम भील पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ राजा राम भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड ल2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

ल2 • साफ़ प्रचार

इसमें वे सभी पृष्ठ आते हैं जिनमें केवल प्रचार है, चाहे वह किसी व्यक्ति-विशेष का हो, किसी समूह का, किसी प्रोडक्ट का, अथवा किसी कंपनी का। इसमें प्रचार वाले केवल वही लेख आते हैं जिन्हें ज्ञानकोष के अनुरूप बनाने के लिये शुरू से दोबारा लिखना पड़ेगा।

यदि आप इस विषय पर लेख बनाना चाहते हैं तो पहले कृपया जाँच लें कि विषय उल्लेखनीय है या नहीं। यदि आपको लगता है कि इस नीति के अनुसार विषय उल्लेखनीय है तो कृपया लेख में उपयुक्त रूप से स्रोत देकर उल्लेखनीयता स्पष्ट करें। इसके अतिरिक्त याद रखें कि विकिपीडिया पर लेख ज्ञानकोष की शैली में लिखे जाने चाहियें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

☆★संजीव कुमार (✉✉) 19:57, 27 जनवरी 2020 (UTC)[]

अप्रैल 2020संपादित करें

  कृपया अपने विघटनकारी सम्पादन रोकें। आपके सम्पादन पूर्ववत या हटा दिये गए हैं।

  • यदि आप किसी अन्य संपादक के साथ किसी लेख की सामग्री के उपर विवाद रखते हैं तो कृपया इस विषय पर संपादक के साथ उनके चर्चा पृष्ठ या लेख के चर्चा पृष्ठ पर चर्चा करें।
  • यदि विवाद किसी अन्य चीज के उपर है तो कृपया विकिपीडिया के प्रबन्धक सूचनापट पर सहायता प्राप्त करें।

जब तक विवाद आम सहमति के माध्यम से सुलझाया नहीं जाता, कृपया विघटनकारी प्रतीत होने वाले संपादन जारी न रखें। विघटनकारी रूप से संपादन करना जारी रखने पर परिणामस्वरूप आपके संपादन विशेषाधिकार को छीना जा सकता है QueerEcofeminist "cite! even if you fight"!!! [they/them/their] 03:49, 6 अप्रैल 2020 (UTC)[]

अंग्रेजी विकि का संदर्भ के रूप में प्रयोगसंपादित करें

नमस्ते Rana Nina जी, अंग्रेजी विकिपीडिया या किसी भी अन्य विकि को स्रोत के रूप में संदर्भित करना विकिपीडिया पर उचित नहीं माना जाता, जैसे कि आपने यहाँ किया है। अधिक जानकारी के लिए कृपया वि:विश्वसनीय स्रोत पढ़ें। धन्यवाद। --SM7--बातचीत-- 06:17, 11 अप्रैल 2020 (UTC)[]

सार्वभौमिक आचार संहिता (यूनिवर्सल कोड ऑफ कंडक्ट) पर आपके महत्वपूर्ण विचारसंपादित करें

प्रिय मित्र,

सार्वभौमिक आचार संहिता (यूनिवर्सल कोड ऑफ कंडक्ट) जिसका उद्देश्य विकिपीडिया पर ऐसा वातावरण बनाने में मदद करना है जहाँ कोई भी, बिना किसी उत्पीड़न अथवा भय के, सुरक्षित रूप से अपना योगदान दे सके। इस विषय पर विभिन्न समुदाय के सदस्यों से उनके विचार एकत्रित किए जा रहे हैं।


चूँकि आप समुदाय के एक महत्वपूर्ण सदस्य हैं, आपके दिए विचार तथा सुझाव हमारे लिए अति महत्वपूर्ण है जो की इस सार्वभौमिक आचार संहिता को बनाने में न केवल सहायक होंगे अपितु हमारे विकिपीडिया समुदाय का प्रतिनिधित्व भी करेंगे। आपके लिए इस आचार संहिता की भाषा और सामग्री को बेहतर ढंग से प्रस्तुत करने, उत्पीड़न मुक्त स्थान बनाने तथा विकी आंदोलन को आगे बढ़ाने में योगदान करने का प्रमुख अवसर है।

आपकी सुविधा हेतु एक गूगल प्रपत्र (फॉर्म : कुछ ही मिनटों में भरने योग्य) भी तैयार किया गया है जिसके भरने की अंतिम तिथि 25 अप्रेल 2020 है, इस प्रपत्र को भरकर इस विषय पर अपने विचार/सुझाव देवें इसके अतिरिक्त आप अपने विचार चौपाल, मेरे वार्ता पृष्ठ, अथवा सीधे ई-मेल (suyash-ctr [at] wikimedia [.] org) के माध्यम से भी दे सकते है, धन्यवाद!

यह संदेश 'मास-मैसेज' संदेश सुविधा के माध्यम से दिया गया है। --Suyash (WMF)(वार्ता), बुधवार 1:19, 27 अक्टूबर 2021 (UTC)

चित्र:Images - 2019-12-04T212255.485.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:Images - 2019-12-04T212255.485.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व6फ़ के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व6फ़ • साफ़ कॉपीराइट उल्लंघन - फ़ाइलें

इस मापदंड में वे सभी फ़ाइलें आती हैं जो साफ़ तौर पर कॉपीराइट उल्लंघन हैं और जिनके इतिहास में उल्लंघन से मुक्त कोई भी अवतरण नहीं है। इसमें वे सभी फ़ाइलें भी आती हैं जो अंतरजाल पर किसी ऐसी वेबसाइट से लिये गए हैं जो साफ़-साफ़ फ़ाइल को मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत नहीं देती है। इसमें वे सभी फ़ाइलें भी आती हैं जिनपर साफ़-साफ़ गलत लाइसेंस का प्रयोग किया गया है। इसमें वे फ़ाइलें भी आती हैं जिनका कॉपीराइट स्वयं अपलोड करने वाले सदस्य के पास है और सदस्य ने उसका पहला प्रकाशन किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत नहीं किया है (यदि कॉपीराइट आपके ही पास है और आप इसे पहले कहीं प्रकाशित कर चुके हैं तो कृपया ओ॰टी॰आर॰एस से संपर्क करें)।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

केप्टनविराज (📧) 04:12, 22 अप्रैल 2020 (UTC)[]

चित्र:Raja Asha bhil.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:Raja Asha bhil.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़3 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़3 • अप्रयुक्त ग़ैर मुक्त उचित उपयोग फ़ाइल

इस मापदंड के अंतर्गत वे फ़ाइलें आती हैं जो कॉपीराइट सुरक्षित हैं और उचित उपयोग हेतु विकिपीडिया पर डाली गई हैं, परंतु जिनका कोई उपयोग न किया जा रहा है और न ही होने की संभावना है। जो चित्र किसी ऐसे लेख के लिये अपलोड किये गए हैं जो बनाया जाना है, उन्हें इस मापदंड के अंतर्गत तभी हटाया जा सकता है यदि उनके अपलोड होने के 7 दिन पश्चात तक वो लेख न बने।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर कॉपीराइट सुरक्षित सामग्री तभी रखी जा सकती है यदि उनका उपयोग "उचित उपयोग" (fair use) में गिना जाता हो। यदि इस फ़ाइल का उपयोग कहीं भी इसके अंतर्गत नहीं किया जा सकता तो इसे हटा दिया जाएगा। यदि आपने इस फ़ाइल का उपयोग कहीं किया था और इसे वहाँ से किसी ने हटाया है तो आप उस लेख की जानकारी इसके वार्ता पृष्ठ पर दे सकते हैं। यदि इस फ़ाइल पर उचित उपयोग औचित्य (fair use rationale) नहीं दिया हुआ है तो एक उचित उपयोग औचित्य लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 19:05, 7 मई 2020 (UTC)[]

चित्र:मनोहर थाना किला.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:मनोहर थाना किला.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 19:06, 7 मई 2020 (UTC)[]

चित्र:जालपा माता जी.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:जालपा माता जी.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 19:06, 7 मई 2020 (UTC)[]

चित्र:काली बाई भील.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:काली बाई भील.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 19:09, 7 मई 2020 (UTC)[]

जटाऊँ शिव मंदिर पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ जटाऊँ शिव मंदिर को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

-रोहित(💌) 06:20, 28 मई 2020 (UTC)[]

उपयुक्त जानकारी भीलवाड़ा की एक website से दी गई है , कृपया कर आप सुधार कर सकते हैं । Rana Nina (वार्ता) 06:27, 28 मई 2020 (UTC)[]

जटाऊँ शिव मंदिर पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, जटाऊँ शिव मंदिर को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/जटाऊँ शिव मंदिर पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीय नहीं। (शीह नामांकन को हहेच में बदला गया)

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--SM7--बातचीत-- 04:28, 3 जून 2020 (UTC)[]

उपयुक्त जानकारी राजस्थान भीलवाड़ा की website से दी गई है , कृपया आप आवश्यक सुधार कर सकते हैं । Rana Nina (वार्ता) 09:36, 3 जून 2020 (UTC)[]

चित्र:भील बेरी वॉटरफॉल .jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:भील बेरी वॉटरफॉल .jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 14:15, 2 जुलाई 2020 (UTC)[]

चित्र:भील बेरी वॉटरफॉल.png पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:भील बेरी वॉटरफॉल.png को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 14:16, 2 जुलाई 2020 (UTC)[]

चित्र:भादवा माता जी.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:भादवा माता जी.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 14:17, 2 जुलाई 2020 (UTC)[]

चित्र:भगोरिया मेला.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:भगोरिया मेला.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 14:17, 2 जुलाई 2020 (UTC)[]

चित्र:राणा पूंजा भील.jpeg पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ चित्र:राणा पूंजा भील.jpeg को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड फ़1 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

फ़1 • 14 दिन(2 सप्ताह) से अधिक समय तक कोई लाइसेंस न होना

इसमें वे सभी फाइलें आती हैं जिनमें अपलोड होने से दो सप्ताह के बाद तक भी कोई लाइसेंस नहीं दिया गया है। ऐसा होने पर यदि फ़ाइल पुरानी होने के कारण सार्वजनिक क्षेत्र(पब्लिक डोमेन) में नहीं होगी, तो उसे शीघ्र हटा दिया जाएगा।

ध्यान रखें कि विकिपीडिया पर केवल मुक्त फ़ाइलें ही रखी जा सकती हैं। यह फ़ाइल तभी रखी जा सकती है यदि इसका कॉपीराइट धारक इसे किसी मुक्त लाइसेंस के अंतर्गत विमोचित करे। यदि ऐसा न हो तो इसे विकिपीडिया पर नहीं रखा जा सकता। यदि इस फ़ाइल के कॉपीराइट की जानकारी आपको नहीं है तो आप चौपाल पर सहायता माँग सकते हैं। सहायता माँगते समय कृपया इसका स्रोत (जहाँ से आपको यह फ़ाइल मिली) अवश्य बताएँ। यदि आपको इसके कॉपीराइट की जानकारी है तो कृपया श्रेणी:कॉपीराइट साँचे में से कोई उपयुक्त साँचा फ़ाइल पर लगा दें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

MGA73 (वार्ता) 14:22, 2 जुलाई 2020 (UTC)[]

भादवा माता मंदिर पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, भादवा माता मंदिर को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/भादवा माता मंदिर पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

उल्लेखनीय नहीं

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।--SM7--बातचीत-- 08:39, 3 जुलाई 2020 (UTC)[]

संदर्भ लगानासंपादित करें

@Rana Nina: जी संदर्भ लगाने के लिए कृपया संदर्भ सांचे का प्रयोग करें। आप संदर्भ लगाने में गलतियां कर रहे हैं। अगर किसी भी सहायता की आवश्यकता हो तो मुझसे कहे।---रोहित(💌) 17:54, 31 अगस्त 2020 (UTC)[]

आपको विकिपीडिया पर काफी समय हो गया है। अतः अब आपको सन्दर्भों में सुधार करना चाहिए। कृपया {{cite book}} को काम में लें। इसके लिए आपको निम्नलिखित रूप में सन्दर्भ देना है:
<ref>{{cite book |last= |first= |date= |title= |url= |location= |publisher= |page= |isbn= |author-link= }}</ref>
इसमें प्राचलों के मान में निम्नलिखित विधि काम में लेनी है: last और first के मान में पुस्तक के लेख का नाम लिखना है। इसमें first में लेखक का नाम और last में उपनाम। date का मान पुस्तक के प्रकाशन की तिथि अथवा वर्ष लिखें। title में पुस्तक का शीर्षक लिखें। url में जो आप लिख रहे हो, वो लिखना है मतलब पुस्तक को देखने का वो गूगल बुक्स का पता, जिसपर जाकर आप पुस्तक में पढ़ते हो। location प्राचल में पुस्तक के प्रकशन का स्थान, publisher में प्रकाशक का नाम। page प्राचल में पुस्तक की पृष्ठ संख्या जिसपर सन्दर्भित वस्तु उल्लिखित की गयी है। isbn में पुस्तक का यह पहचान संख्या लिखनी है। इसमें और भी प्राचल हैं जो आपको आवश्यकतानुसार स्वतः ही समझ में आने लगेंगे। यदि आपको अभी भी यह समझने में समस्या आ रही है तो कृपया समस्या बतायें। आपके लगातार गलत रूप में दिये गये सन्दर्भों के परिणाम के रूप में आपके सभी सम्पादनों को पूर्ववत करना पड़ सकता है। आशा है आप ऐसा नहीं करेंगे।☆★संजीव कुमार (✉✉) 23:48, 6 सितंबर 2020 (UTC)[]

आपका बहुत बहुत धन्यवाद Rana Nina (वार्ता) 02:13, 7 सितंबर 2020 (UTC)[]

गर्दभिल्ल को परमार राजा घोषित किया जाऐसंपादित करें

  1. कौन_है_महाराज_गर्दभिल्ल_और_गर्दभिल्ल_वंश...

(1) पुस्तक : "विक्रमादित्य: संवत्-प्रवर्तक . Caukhambā Vidyābhavana, 1960. इतिहासविद डाॅ. राजबली पांडेय.

  1. अध्याय : उत्पत्ति तथा माता - पिता (पृ. ६८ - ७०)

(i) गर्दभिल्ल :

 बृहत्कथामंजरी तथा कथासरित्सागर जैसे हिन्दुओं के ग्रन्थ विक्रमादित्य की उत्पत्ति तथा माता - पिता पर कुछ भी प्रकाश नहीं डालते । उनमें विक्रमादित्य के जन्म की कहानी उज्जयिनी के शासक महेन्द्रादित्य से आरम्भ होती है । जैन पट्टावलियों तथा जीवनवृत्तात्मक ग्रन्थों से इस समस्या पर कुछ प्रकाश पड़ता है । उनके अनुसार विक्रमादित्य के पिता का नाम गर्दभिल्ल था । गर्दभिल्ल व्यक्तिवाचक नाम नहीं वरन् यह वंश - नाम है । यह बात पुराणगत साक्ष्यों से प्रमाणित होती है । पुराणों के अनुसार सात ( या दस ) राजाओं का एक गर्दभिल्ल ( गर्दभिन ) वंश आन्ध्रों के समकालीन राज वंशों में एक था । इसकी पुष्टि जैन ग्रंथ हरिवंश से भी होनी है जिसके तिथि सम्बन्धी इतिहास में रासभ ( गर्दभिल्ल ) शासकों का उल्लेख है । उनका शासनकाल कुल मिलाकर एक सौ वर्ष था । हमने जो कुछ कहा उससे यह स्पष्ट हो जाता है कि विक्रमादित्य का वंश गर्दभिल्ल कहलाता था । वंश का यह अभिधान क्यों था , कहना कठिन है । प्रभावकचरित में यह वर्णन प्राप्त होता है कि गर्दभिल्ल रासभी विद्या ( गदहों का खेल ) जानता था जिससे वह शत्रुओं में खलबली मचा देता था । यह विद्या कोई सैनिक - यन्त्र - न्यास या  सैनिक व्यवस्था थी जिसके लिए गर्दभिल्ल इतने प्रख्यात थे और बाद में उसी नाम से जाने गये । यह भी संभव है कि उनकी सेना का वेसर महागुल्म ( खच्चरों का रेजीमेंट ) बड़ा प्रवल था जिसके नाम पर उस परिवार का नाम पड़ गया । 

(ii) गर्दभिल्ल मालवों की एक शाखा :

जैन विद्वान् मेरुतुङ्ग की विचारश्रेणि से ज्ञात होता है कि गर्दभिल्ल एक बहुत बड़े समुदाय की एक शाखा थी ' । यह ग्रंथ विशाला उज्जयिनी ) का राजवंशिक इतिहास देते हुए विक्रमादित्य को ' मालवराय ' बताता है । यहाँ ' मालय ' शब्द जनता के अर्थ में प्रयुक्त हुआ है , यह इस बात से सिद्ध होता है कि विशाला क्षेत्र का , जिस पर विक्रमादित्य शासन करते थे , पहले ही उल्लेख हो चुका है । हम दूसरे साधनों से भी जानते हैं कि मालवों की ऐसी शाखायें थीं भी । नंदसा - यूप - अभिलेख के अनुसार ' इक्ष्वाकुओं द्वारा स्थापित और प्रथितयश राजर्षियों के मालव वंश में उदित विजय पर नृत्य करनेवाले , जयसोम के पुत्र , प्रभारवर्धन के पौत्र , सोगियों के नायक सोम ने कई शत सहस्र गार्यों को दक्षिणा ( रूप में दिया ) । ' यह अभिलेखात्मक प्रमाण इस बात की पुष्टि करता है कि सोगी मालवों की एक उपजाति थी । उसी प्रकार गर्दभिल्ल को भी मालवों की उपजाति माना जा सकता है । विक्रमादित्य भारतीय इतिहासप्रसिद्ध मालवों की गर्दभिल्ल शाखा में उत्पन्न हुये थे । 

(iii) मूलवंश : सूर्यवंश

हम इस प्रश्न का अन्वेषण और आगे करते हैं कि गर्दभिल्ल - मालव भारतवासियों के किस संजाति के थे । साहित्यिक ग्रंथों को इस प्रश्न से कोई सम्बन्ध नहीं । नंदसायूप - अभिलेख मालव जाति को  इक्ष्वाकुप्रथित राजर्षिवंश " कहता है । इक्ष्वाकु अयोध्या के राजवंश के संस्थापक थे । नंदसा - अभिलेख यह संकेत करता है कि मालव सूर्यवंशी क्षत्रिय थे ।

मालवों का प्रारम्भिक इतिहास महाभारत में प्राप्त होता है । उसके अनुसार मालव तत्कालीन प्रमुख क्षत्रिय राजवंशों से सम्बन्धित थे । विराट के श्यालक कीचक की माता मालव - राजकुमारी थी । ' मद्रराज अश्वपति की रानी - सावित्री की माता - भी मालव - राजकुमारी थी । महाभारत के विशाल युद्ध में मालव कौरवों की ओर से लड़े थे । मालवों का मत्स्यों और मद्रों से वैवाहिक सम्बन्ध यह सिद्ध करता है कि मालव महाभारत काल की प्रमुख क्षत्रिय जातियों में समझे जाते थे । यूनानी लेखक , जिन्होंने सिकन्दर तथा मालव - तुद्रकों के बीच घोर युद्ध का वर्णन किया है , मालवों की सामाजिक स्थिति पर प्रकाश नहीं डालते । वे केवल इनकी शक्ति तथा गर्व का स्पष्ट संकेत करते हैं । यूनानियों के द्वारा मालवों का गर्व आक्रान्ताओं के लिए कभी उद्धत और प्रायः भयङ्कर समझा गया है । वर्णन क्षत्रियों के लिए उपयुक्त है जो कि वीरता और साहस के लिए विख्यात थे ।

(iv) मल्लों से उनका सम्भावित सम्बन्ध हमने अब तक गर्दभिल्ल मालवों की उत्पत्ति इस संदिग्ध सुझाव के साथ पंजाब के मालवों से दिखाई है कि राजपूताना के मालव अपने को इच्वाकु के सूर्यवंश की सन्तान मानते थे ।

इस प्रकार उपरोक्त पुस्तक में गर्दभिल्ल शब्द का अर्थ और गर्दभिल्ल वंश के क्षत्रिय होने के प्रमाण इतिहासविद डाॅ. राजबली पांडेय द्वारा सिध्द किए हुए हैं। आगे और इन वामपंथी इतिहासकारों के लिए प्रमाण देंगे कि गंधर्वसेन और गर्दभिल्ल कौन थें। यहां इतने विवरण से पता चलता है कि गर्दभिल्ल कोई व्यक्ति विशेष नहीं थे। बल्कि सुर्यवंशी मालवों की उपजाती थें। प्रसिद्ध इतिहासकार सुर्यमल्ल मिश्रण के अनुसार सुर्यवंशी ही बाद में अग्निवंशीय क्षत्रिय कहलाएँ।

(2) राजस्थान के इतिहास की पुस्तक - "Māravāṛa Rājya kā itihāsa. By Jagadish Singh Gahlot. Mahārājā Mānasiṃha Pustaka Prakāśa, 1991." में दंत कथाओं के परंपरा के आधार पर लिखा है -

"दन्तकथाओं से जाना जाता है कि गंधर्वसेन उज्जैन के पंवार राजा और विक्रमादित्य के पिता थे ।"

(3) पुस्तक : विक्रमादित्य : तथ्यों के आलोक में... (रचनाविद इतिहासकार डाॅ. भगवतीलाल राजपुरोहित।)

डॉ. भगवतीलाल राजपुरोहित के अनुसार सम्राट विक्रमादित्य पँवार का वंश गर्दभिल्ल अथवा प्रमर है। पिता का नाम गंधर्वसेन है जिन्हें गर्दभ वेश में गंधर्व, महेन्द्रादित्य या गर्दभिल्ल भी कहा गया है।

(4) पं . कोटा वेंकटचलम् अपने शोध - प्रबन्ध ' द हिस्टिरियोसिटी ऑफ़ विक्रमादित्य एण्ड शालिवाहन ' में लिखते हैं- "So , it is impossible that western scholars should be ignorant of the accounts of Vikrama and Shalivahana in Bhavishya Mahapurana . They purposely ignored the four dynasties of the Agni Vamsa which coverd over a period of about 1300 years from 101 BC to 1195 AD i.e. from the time of Vikramaditya to the time of Prithiviraja taking Bhojraja alone from the list of Panwer dynasty leaving the era - founders Vikramaditya and Shalivahana in the intervening period . The Chronology of ancient Indian history right from the time of Mahabharata War ( 3138 BC ) flown to the beginning of Gupta Dynasty ( 327 BC ) has to be compressed by 1207 years so as to suit the contemporaneity of Alexander and Chandragupta . Vikramaditya and Shalivahana were historical persons who extended their empires from the Himalayas to Gaps Comorin ."

अतः पं. कोटा वेंकटाचलम् के अनुसार पँवार राजा गंधर्वसेन, सम्राट विक्रमादित्य और शालिवाहन का वंश अग्निवंशीय क्षत्रिय कुल है।

(5) डॉ. विनय कुमार शर्मा के अनुसार बृहत्कथा-मंजरी तथा कथासरित्सागर में विक्रमादित्य के पिता का नाम महेन्द्रादित्य, प्रभावकचरित में गर्दभिल्ल और भविष्य पुराण में गंधर्वसेन मिलता है। (पुस्तक : भारतीय इतिहास के शिखर पुरूष विक्रमादित्य)

यदि ये वामपंथी गर्दभिल्ल शब्द से जिसका कही जिक्र नहीं मिलता विक्रमादित्य के इर्द गिर्द भी, उसका अर्थ भील जाती से लगा रहे तो निश्चित ही सभी स्थानों पर भीलवंश लिखा रहना चाहिए था। उसकाल में पृथ्वी पर केवल क्षत्रिय ही शासन करते थे। भील वन में रहते थे। गर्दभिल्ल शब्द का प्रयोग भील जाती से होता तो इब वंश के एक नहीं दो नहीं तिन नहीं बल्कि पुरी वंशावली को क्षत्रिय वंशीय न कहा गया होता। वामपंथियों का उद्देश्य भारत में जातीवाद बढाकर फुट डालना है। महाराज भरथरी का राजपाट छोड़कर संन्यासी होना प्रसिद्ध है। वे यदि भील होते तो हर स्थान पर क्षत्रिय क्यो कहलाते?

(6) आर्य समाज के महान और बेहद प्रसिद्ध इतिहास संशोधक कुलयात आर्य मुसाफिर के अनुसार महाराज भरथरी पँवार वंशीय थे। जिन्होंने शंकराचार्य से दिक्षा लीं थीं। (यह गर्दभिल्ल के पुत्र भरथरी ही है। )

#संदर्भ : 📖 Kuliyata Arya Musafira : Hindi anuvada, On Hinduism according to Arya Samaj, Hindu reform movement. Lekharāma. 

Harayana Sahitya Samsthana, 1979.

(7) Ujjayinī kī sāṃskr̥tika paramparā Pratibhā Prakāśana, 2005 (Cultural history of Ujjain District, India; covers the ancient period to 20th century.) उपरोक्त संदर्भ के अनुसार भी गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल वंशीय महाराज विक्रमादित्य, एवं राजा भरथरी सभी क्षत्रिय प्रमार वंशीय राजा थें। यह उज्जयिनी के लोकसांस्कृतिक प्रमाण द्वारा बताया गया है।

(8) Chronology of Ancient Hindu History, भाग 2. By Kota Venkatachelam. अनुसार भविष्य पुराण के आधार पर राजा गंधर्वसेन, विक्रमादित्य और शालिवाहन पँवार या परमार राजवंशी शासक थें।

(9) प्रो. राधाकृष्णन ने लिखा है - - "The Panwar dynasty in which Vikramaditya and Salivahana were born in the most important of the four Agnivamsis. Vikramaditya and Salivahana conquered the whole bharat from Himalayas to Cape Comorin, became emperors and established their eras."

Ref : (Salivahana performed the Ashwamedha sacrifice. Prof. Dr.Radha Krishnan)

(10) इतिहासकार डाॅ. दशरथ शर्मा कृत पँवार वंश दर्पण पृ. १२-१३ में दि गई chronology अनुसार राजा गर्दभिल्ल, सम्राट विक्रमादित्य और शालिवाहन तथा महाराजा भोज आदि महाराज पृथु के वंशज है। उनकी वंशावली वहां राजा पल्ल, राजा वेणु आदि से आरंभ होती है। अतः इस वंशावली के अनुसार गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल सुर्यवंशी क्षत्रियों के वंशज है।

राजा पृथु भागवत पुराण अनुसार सुर्यवंशी थे। (प्रमाण #भागवत महापुराण-4.13.20 (सटीक, दो खण्डों में, गीताप्रेस गोरखपुर, संस्करण-2001ई.) तदनुसार गर्दभिल्ल माने गंधर्वसेन, पृथ्वीपती महाराज पृथु के सुर्यवंशी वंशज है।

(11) ग्रंथ - "The historicity of Vikramaditya and Shalivahana" के अनुसार विक्रमादित्य गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल के पुत्र पँवार राजवंश के सम्राट थें।

(12) Journal of the Bombay Branch of the Royal Asiatic Society, भाग 9 के अनुसार संवत् प्रवर्तक विक्रमादित्य प्रमर क्षत्रिय थे।

(13) पुस्तक : 📖 औपनिवेशिक इतिहास लेखन की भेंट चढ़ा विक्रमादित्य का इतिहास में रवि शंकर अनुसार भी विक्रम संवत् के प्रवर्तक मालवगणमुख्य विक्रमादित्य के पिता गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल थें। यह पँवार /परमार वंशीय क्षत्रिय राजा थें। इन्होंने पं. कोटा वेंकटाचलम् और डॉ. राजबली पांडेय तथा ग्रंथ - "The historicity of Vikramaditya and Shalivahana" का अभिमत समर्थित किया है।

(14) पुस्तक : "सम्राट विक्रमादित्य और अयोध्या" में डाॅ. जितेंद्र कुमार संजय लिखते हैं---

"उज्जयिनी के राजसिंहासन पर आरूढ़ कौण्डिन्यगोत्रीय महाराज प्रमर ( 392-386 ई . पू . ) से क्षत्रिय - वंश के दिव्याकाश में परमार राजवंश का अभ्युदय हुआ । महाराज प्रमर के पश्चात् महामर ( 386-383 ई.पू. ) , देवापि ( 383-380 ई.पू. ) और देवदूत ( 380-377 ई . पू . ) ने तीन - तीन वर्ष राज्य किया । 377 ई . पू . में शक - नरेश ने महाराज देवदूत को अपदस्थ कर उज्जयिनी के राजसिंहासन पर अधिकार कर लिया । उज्जयिनी पर शकों ने 377 से 195 ई.पू. तक शासन किया । इस अवधि में उज्जयिनी के परमार श्रीशैलम् चले गये थे । 182 ई.पू. में महाराज देवदूत के पौत्र महाराज गन्धर्वसेन ने उज्जयिनी पर अधिकार कर लिया । महाराज गन्धर्वसेन ने 182 ई.पू. से 132 ई.पू. तक राज्य किया । तत्पश्चात् उनके पुत्र महाराज शंख ( भर्तृहरि ) उज्जयिनी के राजसिंहासन पर आरूढ़ हुए , किन्तु महाराज शंख के संन्यासी हो जाने के पश्चात् महाराजगन्धर्वसेन को पुनः 102 ई.पू. में राज्य सम्भालना पड़ा।"

फिर लिखा है - - - एक वर्ष बाद भगवान् शिव की कृपा से उनके द्वितीय पुत्र विक्रमादित्य का जन्म हुआ । विक्रमादित्य ने 5 वर्ष की आयुसे 12 वर्ष तक तपस्या कर अनेक सिद्धियाँ प्राप्त की । सम्राट विक्रमादित्य 19 वर्ष की आयु में 82 ई.पू. में उज्जयिनी के राजसिंहासन पर विराजमान हुए तथा 19 ई . तक राज्य किये । सम्राट विक्रमादित्य के बल - विक्रम का वर्णन करते हुए महाकवि कालिदास ने लिखा है - -

वर्षे श्रुतिस्मृतिविचारविवेकरम्ये श्रीभारते खधृतिसम्मितदेशपीठे । मत्तोऽधुना तिरियं सति मालवेन्द्रे श्रीविक्रमार्कनृपराजवरे समासीत् ॥

 " सम्राट विक्रमादित्य के पास अठारह योजन में फैली हुई तीन करोड़ पैदल सेना के अतिरिक्त सुदृढ़ हस्तिसेना और जलसेना भी थी , जिसका वर्णन महाकवि कालिदास ने किया है... "
 इस प्रकार इस ग्रंथ में हमें गंधर्वसेन (गर्दभिल्ल) और सम्राट विक्रम का गोत्र, वंश कुल उपरोक्त संदर्भित अनुमानाकूल ही मिलते हैं।

(15) डाॅ. प्रविणकुमार द्विवेदी के अनुसार गंधर्वसेन (गर्दभिल्ल) गंधर्वपुरी (मध्यप्रदेश) के शासक नाबोवाहन के पुत्र थे जिन्हें महेन्द्रादित्य (महेंद्र = महि+इंद्र अर्थात् महि (पृथ्वी) का राजा, आदित्य = सुर्य) भी कहाँ जाता है। उनकी धर्मपत्नी सौम्यदर्शना वीरमती #मदनरेखा थी जिनसे उनके यहाँ भर्तृहरि तथा वीररत्न विक्रमादित्य से दों पुत्र रत्न प्राप्त हुएं। (पुस्तक : भविष्यपुराण में सम्राट विक्रमादित्य)

(16) ग्रंथ : महाकवि श्रीसोमदेवभट्ट विरचित कथासरित्सागर के आलोक में विक्रमादित्य (डाॅ. सदानंद त्रिपाठी दयालु) में उद्धृत संदर्भित साक्ष्बध्द बिंदु व तथ्य :

(i) क . विण्टरनिट्जकृत भारतीय साहित्य का इतिहास , भाग 3 , खण्ड एक ; संस्कृतकाव्य का इतिहास , पृ . 76 , पं . सुभद्र झा ( अनु . ) ; ख . संस्कृत साहित्य का इतिहास , आचार्य बलदेव उपाध्याय , पृ .441 के अनुसार विक्रमादित्य :
      " भारतवर्ष के इतिहास में कलिकाल जो पुण्यप्रतापी सम्राट अवतीर्ण हुए हैं , उनमें परम वन्दनीय हैं अवन्ती महाजनपद के गोविप्रसंरक्षक , नीरक्षीरविवेकी , प्रजावत्सल , महान् न्यायप्रिय , महाराजाधिराज सम्राट विक्रमादित्य । ईसापूर्व प्रथम शताब्दी में जिस समय सनातन - वैदिक धर्मपरायण भारतीय हिंदू आर्य जनता म्लेच्छ शकों के दुर्दान्त आतंक से सर्वथा त्रस्त होकर त्राहि - त्राहि कहकर परमपिमा परमेश्वर से आतंत्राण हेतु प्रतिक्षण प्रार्थना कर रही थी , तभी अहैतुककरुणावरुणालय श्रीहरि के अनुरोध तथा भृत्यानुग्रहकातर साम्बसदाशिव के कृपाप्रसाद से आपका प्राकट्य महाराज महेन्द्रादित्य के राजप्रासाद में हुआ । विक्रम अर्थात् पराक्रम में आदित्य ( सूर्य ) के समान परम तेजस्वी होने के कारण दैवज्ञजनों ने लक्षणानुरूप ही आपका नामकरण ' विक्रमादित्य ' अभिधान के साथ किया । मालवगणों के अध्यक्ष होने से ' मालवगणाध्यक्ष तथा शकों ( म्लेच्छ आततायियों ) के परम शत्रु ( अरि ) होने से आप ' शकारि ' आदि विरुदों से समलंकृत हुए ।"

(iii) तैत्रिभिर्मन्त्रिनयैः सह राजपुत्रोऽत्र सः ।

ववृधे विक्रमादित्यस्तेजोवीर्यबलैरिव ॥ 54 ॥ 
" भगवान् शंकर के अमोघ आशीर्वाद से जन्म होने के कारण उपनयनादिसंस्कार सम्पन्न होने के पश्चात् गुरुजन तो केवल हेतु ( निमित्त ) मात्र थे , राजकुमार विक्रमादित्य तत्तद् विद्याओं को बिना किसी प्रयास के सहज रूप से अर्जित कर लेता था । समस्त विद्याओं तथा कलाओं के साथ ही दिव्यास्त्र - संचालन - विधा में भी सर्वथा निष्णात हो जाने पर प्रजाजन भी राजकुमार को धनुर्धर भार्गव परशुराम से भी अत्यन्त श्रेष्ठ समझते थे । महेन्द्रादित्य के वशवर्ती राजाओं ने सविनयभाव से अपनी सुरूपवती कन्याओं का विवाह राजकुमार विक्रमादित्य के साथ करने हेतु समर्पित कर दी । तब महाराज ने उन अपरा लक्ष्मीस्वरूपा कन्याओं का ब्राह्मविधि से युवराज का विवाह - संस्कार सम्पन्न कराकर उन्हें श्रुतिपरम्परानुसार महाराज पद पर पट्टाभिषिक्त कर दिया । और स्वयं सपत्नीक सचिव को साथ लेकर वृद्धावस्था में अन्ततः काशी जाकर भगवान् श्रीविश्वनाथ ज्योतिर्लिंग के शरणापन्न होकर शिव - समाराधन में प्रवृत्त हो गये । इधर , उज्जयिनी में नवाभिषिक्त महाराज विक्रमादित्य ने अपने पैतृक राज्य को प्राप्त करके उसी प्रकार अपना प्रभावी प्रभाव दिखाना प्रारम्भ कर दिया... "
 उपरोक्त वर्णन अनुसार गर्दभिल्ल या गंधर्वसेन विक्रमादित्य वंश आर्य नृपों का वंशीय तथा शैव धर्मी था। वें मालवा का वंशीय तथा मालवगणमुख्य थें। भीलवंशी सर्वप्रथम स्वयं को मालव सिध्द करें क्योंकि ही गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल सुर्यवंशी मालव थें।

(16) vikram volume (scindia Oriental Institute 1948.) में सम्राट विक्रमादित्य परमार वंशीय तथा गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल के पुत्र कहे गए हैं।

(17) इतिहासकार कुमारी सुश्री मनीषा अथवा मणिकर्णिका सिंह ‘आर्या क्षात्रकन्या’ (मेडता, राजपूताना/मरुधर/राजस्थान + कालिकाता, पश्चिम बङ्गाल/गौडदेश + बनारस हिन्दु विश्वविद्यालय, वाराणसी/काशी, पूर्वाञ्चल, आर्यावर्त्त, उत्तरप्रदेश, भारत) की कलम से लिखे गए ग्रन्थ "विश्वविजेता सम्राट् शालिवाहन परमार" में भी गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल के वंशज शालिवाहन परमार, परमार वंशीय दिग्विजयी अग्निवंशीय क्षत्रिय सम्राट है। ग्रंथ में कई साक्ष्य एवं अभिलेख ब्योरोवार वर्णित है।

(18) इतिहासकार जी. डी. जोशी कि पुस्तक शकारि सम्राट विक्रमादित्य के पृ. १४-१५ अनुसार :

 "हरिवंश नामक वंशावलीमें मालव लोगोंको चन्द्रवंशीय क्षत्रिय बताया गया हैं । ये लोग बड़े ही बलवान , पराक्रमी और वैभवशाली लोग कहे जाते थे । कहा जाता है कि जब कौरव पाण्डव ओके बीच महाभारत का युद्ध हुआ था , तब उस समय इन्होंने कौरवपक्ष का साथ दिया था । यह भी कहा जाता है कि जब सिकन्दर ने भारतवर्ष पर आक्रमण किया था तब इस मल्लवंश के बीर उससे भी लड़े थे । इतिहासकी ढूंढखोज करनेसे यह भी ज्ञात होता है कि  मालव शब्द मल्ल शब्द का अपभ्रंश है । यथार्थ में ये मालव लोग मल्लवंशीय क्षत्रिय हैं । अब भी मल्ल तथा शाही वंशके कुछ चन्द्रवंशी राजपूतोंके परिवार नेपाल को तराई तथा कुमाऊं के इलाकों में मौजूद हैं । इतनी शताद्वियाँ बीतने कौम का योद्धा । अतः उक्त पंजाब से जिन मालव वा मल्ल लोगोंका दल अशोक के मरने पर रावी नदी को छोड़कर राजपूताने की ओर होता हुआ अवन्ति प्रदेश पर आया वे लोग विशुद्ध चन्द्रवंशीय क्षत्रिय थे । राजपूताने के नगर अथवा नागरी ग्राम में कुछ प्राचीन शिक्के प्राप्त हुये हैं । इन शिक्कों पर " जय - मालवाणाम् शब्द खुदे हुये हैं । इन पर लिखे हुये शब्दों की बनावट तथा आकार प्रकारादि को देखने से ज्ञात होता है कि ये ईस्वी सन् से पूर्व पहिली शताब्दि के हैं । अतः इन सिक्कों के देखने से यही निश्चित किया जा सकता है कि ये शिक्के इन्हीं मालव लोगों के प्रचलित किये हुये हैं , अतः अनुमानतः राजपूताने के राजाओं को विजय कर के इन के द्वारा अवन्ति में नया राज्य स्थापन करने का काल ईस्वी शताब्दि से पूर्व के आसपास का ज्ञात होता है । यही कारण है कि अपनी विजय के चिरस्मरणार्थ इन्हीं मालव लोगों ने अवन्ति राष्ट का प्राचीन नाम बदलकर मालवा राज्य रख दिया । तब ही से अवन्ति राज्य ' मालवा ' राज्य कहलाने लगा । पंजाबसे मालव लोगोंका जो दल राजपुतानेकी ओर आया और जिसने अवन्तिकाको अपनी राजधानी बनाया वह कौनसा सर्दार था और उसने किस प्रकार यहांपर सफलता प्राप्त की अभीतक इस सम्बन्धमें अधिक छानवीन नहीं हो सकी है परन्तु किम्वदन्ती है कि मालव राज्यका आदि संस्थापक राजा गंधर्वसेन हुआ हैं । उज्जयनीमें मालव जातिका यही पहिला राजा है जिसने राज्यकी सीमाको अपनी भुजाओंके बलपर बढाया । कहते है कि इसके दो लड़के थे । बड़े राजकुमारका नाम भर्तृहरि तथा दूसरे राजकुमारका नाम विक्रम था ।"

जी. डी. जोशी के अनुसार भी गंधर्वसेन मालव तथा गर्दभिल्ल जनजाति के क्षत्रिय वंशी है लेकिन डाॅ. राजबली पांडेय तथा इनके उद्धरण में केवल इतना अंतर है कि इनके अनुसार गर्दभिल्ल या गंधर्वसेन या विक्रमादित्य का प्रमर वंश विशुद्ध चंद्र वंशी है और फिर अग्निवंशीय कहलाया तथा डाॅ. राजबली पांडेय अनुसार ये मलव क्षत्रिय गर्दभिल्ल वंश इक्वाक्षुवंशीय सुर्यवंशीय है जिसका मूल नंदसा अभिलेख है। हम इन दोनों विवादों में नहीं पडना चाहते। दोनों मत एतिहासिक है जिनमें एक बात समान है जो हम दो निष्कर्ष पर लिखेंगे - -

(i) गर्दभिल्ल (प्रमर) वंश ही मालव है। (ii) मालव मूलतः विशुद्ध क्षत्रिय एवं महाभारत में उल्लेखित प्राचीन आर्य जनजाति है।

(19) साहित्यरत्न ईशदत्त शास्त्री श्रीश कृत "विक्रमादित्य और उनके नवरत्न (१९४४ ई.)" में उन्होंने सम्राट विक्रमादित्य और गर्दभिल्ल वंश को मालव वंश ही माना है। और मालव सुर्यवंशी क्षत्रियों के प्रमर कुल या गर्दभिल्ल वंश को भारत का प्राचीन वंश सिध्द करने के लिए महाभारत की कथा उल्लिखित की है। वे लिखते हैं - -

  " महाभारत की प्रसिद्ध पुण्य - कथा 'सावित्री - सत्यवान' किसे ज्ञात नहीं है ? सावित्री का पिता अश्वपति और माता ' मालवी ' थी । इसी सावित्री पर प्रसन्न होकर यम ने वरदान दिया था कि ' तुम्हारे पिता से तुम्हारी माता ' मालवी ' को ' मालव ' नाम वाले १०० पुत्र होंगे । वे तुम्हारे सौ भाई देवों के समान तेजस्वी , दीर्घायु और पुत्र - पौत्र - सम्पन्न होंगे । यह एक उदाहरण इसके लिये पर्याप्त है कि मालव जनपद प्राचीन ही नहीं अपितु अति प्राचीन है । "
 वे आगे लिखते हैं - - - - -  
   " स्कन्दपुराण के कुमारखण्ड में इस प्रदेश के ग्रामो की सख्या ११८१८० कूती गई है । भविष्यपुराण के प्रतिसर्ग पर्व , खण्ड १ , अध्याय ६ के एक श्लोक से यह पता चलता है कि ' अवन्ती देश में ४ योजन के विस्तृत भू - क्षेत्र पर अम्बावती पुरी को बसा कर प्रमर भूप सुखपूर्वक रहने लगा । कहा नहीं जा सकता कि इससे क्या अनुमान किया जाय । पर आज कल के ' बुद्धिवादी ' भारत इतिहास के अन्वेषक विदेशी विद्वानों का मत है कि मालववीर , मालवक , मालवगण , कहीं बाहर से आकर यहाँ बस गये और उन्होंने इस वर्तमान मालवा कहलाने वाली भूमि को मालवा का नाम दिया । "

फिर वामपंथी मतों को निम्न बिंदुओं से खण्डित करते हैं - -

(i) (करकोट नगर ( जयपुर ) के सिक्कों से यह प्रमाणित होता है कि मालक लोग ईसवी सन पूर्व १५० या १०० तक अपने निवास स्थान में पहुंच गये । वे लोग भटिंडा ( पटियाला रान्य ) के रास्ते गये थे जहाँ वे अपने नाम के चिह्न छोड़ गये । ( यह चिह्न ' मालवई ' नामक बोली के रूप में है जो फीरोजपुर से भटिंडा वक बोली जा रही है ) और उस प्रदेश का नाम ही मालव पड़ गया । मालव नाम का अवशिष्ट अब तक उस प्रांत के ब्राह्मणों में मिलता है । जो मालवी कहलाते हैं । अब इस शब्द को संस्कृत रूप देकर ' मालवीय ' बना लिया गया है । ये मालवीय ब्राह्मण गौरवर्ण के और सुन्दर होते हैं — विशेष रूप से बुद्धिमान होते हैं । ये लोग बढ़ते - बढ़ते इलाहाबाद तक आकर बस गये हैं ।

(ii) सुप्रसिद्ध संशोधक - विद्वान् राहुल सांकृत्यायन का कहना है कि ' मालव ' देश का पुराने समय में यह नाम नहीं था ।

(iii) बुद्ध के समय और बहुत पीछे तक भी उसे अवन्ती जनपद कहा करते थे । मालव मल्ल का ही दूसरा रूप है । मल्लजन भारत में प्रथम आये । आर्यो के मूल जनों ( कबीलों ) में से एक थे के समय में मल्लो का गण मही ( गंडक ) , गंगा , सरयू नदियों के बीच में उस जगह था , जहाँ कि आज छपग जिला और गोरखपुर जिले का दक्षिणी भाग है । लेकिन मालवा में जो मल्ल गये , वे ये पूर्वी मल्ल नहीं थे । आज कल पूर्वी पजाब के फीरोजपुर आदि जिलों को भी मालवा कहते हैं । और मल्ल वंश वाले वहाँ बहुत से जाट अब भो बसते हैं । लेकिन सिकन्दर के समय ( ई ० पूर्व ४ थी सदी ) जिन मल्लो ने सिकन्दर की सेना के दाँत खट्टे किये थे और खुद सिकन्दर को घायल किया था ' ( यही घाव अन्त में सिकन्दर की मृत्यु का कारण हुआ ) , वे पश्चिमी पंजाब के वर्तमान मंग आदि जिलों में रहते थे ।

(iv) जान पड़ता है यूनानियों और शकों के पंजाब के शासन के समय ( ई ० पूर्व पहली सदी ) में उनमें से कुछ अपने जनपद में परिस्थिति प्रतिकूल देख प्रवास करने पर मजबूर हुए । और अंत में उनका प्रभुत्व इतना जमा कि उसका नाम ही बदल कर मालवा हो गया ? !

(v) जो कुछ भी हो , भारत - जननी के हृदय - स्थानीय इस मालव - प्रदेश की अनादिकाल से प्रतिष्ठा प्रमाणित है । यह जनपद अपनी लोकोत्तर श्रेष्ठता - ज्येष्ठता , वीरता - धीरता , काव्य - कला - कुशलता , वाणिज्य - उद्योगशालिता के लिये गर्वोन्नत - नाम का धारक है । इसी धर्म - भूमि के रण - बंके तरुणों ने अपनी करवाल - लेखनी से यूनान सार्वभौम के दानवाकार और अथक लड़ाके सिपाहियों के वज्र - पुष्ट शरीरों पर अपनी अडिग साहसिकता का अटल कीर्ति लेख अंकित किया । ऐसा ज्ञात होता है कि सम्राट विक्रमादित्य के समय में मालव शुद्ध गणतन्त्र राष्ट्र था और उसके सरक्षक के पद पर स्वयं सम्राट कार्य करते थे ।

(vi) आह ! आज का मालवा तो सिमट कर उज्जैन के इर्द - गिर्द में समाप्त हो गया है । जो मालवा पूर्वकाल में अपनी संगीत - साहित्य महाविद्या के लिये प्रसिद्ध था वह आज की ब्रिटिश सरकार की छत्रच्छाया में ' अफीम ' के व्यापार का सब से बड़ा ' अड्डा ' है । जिस मालवा की कहावत है

'मालव धरती गहन गम्भीर !
 पग पग रोटी मग मग नीर !!'

इससे सिध्द होता है कि मालवा जनजाति और सुर्यवंशी प्राचीन और मूल भारतीय है और उनके वंशज गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल तथा विक्रमादित्य और शालिवाहन, भरथरी है जिन्हें आगे चलकर अग्निवंशीय कहा गया। इस मालवों को वामपंथी बाहर से आया बतलाकर और मालव गंधर्वसेन या गर्दभिल्ल को भील बताकर क्या दिखाना चाह रहे हैं यह समझ लिजिए। वे दो कार्य कर रहे हैं - -

(i) मालव सुर्य वंशीय क्षत्रिय जनजाति के गर्दभिल्ल (गर्दभ गंधर्व) को भील बता रहे हैं न कि मालव। उज्जयिनी के शासक उनके नुसार मालव नहीं भील थें। और गर्दभिल्ल ही भीलवंश था न कि मालववंश।

(ii) दुसरा वे मालवों को उज्जयिनी या अवन्ति या मालवा में बाहर से आने वाले बता रहे हैं।

लेकिन हमने उपर सिकंदर आक्रमण के समय मालव तथा उनके अवन्ति में स्थानांतरण से और महाभारत एवं नंदसा अभिलेख इतने मूल साक्ष्यों से मालव जाति के स्थानांतरण के सिध्दांत का खण्डन किया। अवन्ति में मालव क्षत्रिय बसे फिर अवन्ति मालवा हुई। नाबोवाहण से पूर्व से मालवा का शासन केवल मालव लोगा ही करते थे और इसलिए गर्दभिल्ल वंश ही मालव है पृथक नहीं। वामपंथी इन्हें पृथक सिध्द करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। विकिपीडिया पर उन्होंने कुप्रचार आरंभ कर दिया है। इनसे सावधान रहें।

(Aniket M Gautam (वार्ता) 15:03, 9 दिसम्बर 2020 (UTC))[]

जैतसी परमार भील पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ जैतसी परमार भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के मापदंड व2 के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

व2 • परीक्षण पृष्ठ

इसमें वे पृष्ठ आते हैं जिन्हें परीक्षण के लिये बनाया गया है। यदि आपने यह पृष्ठ परीक्षण के लिये बनाया था तो उसके लिये प्रयोगस्थल का उपयोग करें। यदि आप विकिपीडिया पर हिन्दी टाइप करना सीखना चाहते हैं तो देवनागरी में कैसे टाइप करें पृष्ठ देखें।

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।

Ts12rAc (वार्ता) 17:29, 1 मार्च 2021 (UTC)[]

मार्च 2021संपादित करें

  यह आपकी अंतिम चेतावनी है; अगली बार आपके द्वारा विकिपीडिया पर बर्बरता करने पर, जैसा कि आपने राणा पुंजा पृष्ठ पर किया है, आपको बिना किसी सूचना के संपादन करने से अवरोधित किया जा सकता हैपाकिस्तान हिन्दू (वार्ता) 09:23, 12 मार्च 2021 (UTC)[]

भीखाभाई_भील पृष्ठ को शीघ्र हटाने का नामांकनसंपादित करें

 

नमस्कार, आपके द्वारा बनाए पृष्ठ भीखाभाई_भील को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के निम्न मापदंडों के अंतर्गत शीघ्र हटाने के लिये नामांकित किया गया है।

  • ल2. साफ़ प्रचार

यदि यह पृष्ठ अभी हटाया नहीं गया है तो आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। यदि आपको लगता है कि यह पृष्ठ इस मापदंड के अंतर्गत नहीं आता है तो आप पृष्ठ पर जाकर नामांकन टैग पर दिये हुए बटन पर क्लिक कर के इस नामांकन के विरोध का कारण बता सकते हैं। कृपया ध्यान रखें कि शीघ्र हटाने के नामांकन के पश्चात यदि पृष्ठ नीति अनुसार शीघ्र हटाने योग्य पाया जाता है तो उसे कभी भी हटाया जा सकता है।Ratnahastin (वार्ता) 12:46, 25 मई 2021 (UTC)[]

2021 Wikimedia Foundation Board elections: Eligibility requirements for votersसंपादित करें

Greetings,

The eligibility requirements for voters to participate in the 2021 Board of Trustees elections have been published. You can check the requirements on this page.

You can also verify your eligibility using the AccountEligiblity tool.

MediaWiki message delivery (वार्ता) 16:30, 30 जून 2021 (UTC)[]

Note: You are receiving this message as part of outreach efforts to create awareness among the voters.

[Wikimedia Foundation elections 2021] Candidates meet with South Asia + ESEAP communitiesसंपादित करें

Hello,

As you may already know, the 2021 Wikimedia Foundation Board of Trustees elections are from 4 August 2021 to 17 August 2021. Members of the Wikimedia community have the opportunity to elect four candidates to a three-year term. After a three-week-long Call for Candidates, there are 20 candidates for the 2021 election.

An event for community members to know and interact with the candidates is being organized. During the event, the candidates will briefly introduce themselves and then answer questions from community members. The event details are as follows:

  • Bangladesh: 4:30 pm to 7:00 pm
  • India & Sri Lanka: 4:00 pm to 6:30 pm
  • Nepal: 4:15 pm to 6:45 pm
  • Pakistan & Maldives: 3:30 pm to 6:00 pm
  • Live interpretation is being provided in Hindi.
  • Please register using this form

For more details, please visit the event page at Wikimedia Foundation elections/2021/Meetings/South Asia + ESEAP.

Hope that you are able to join us, KCVelaga (WMF), 06:32, 23 जुलाई 2021 (UTC)[]

काली बाई पृष्ठ का हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकनसंपादित करें

नमस्कार, काली बाई को विकिपीडिया पर पृष्ठ हटाने की नीति के अंतर्गत हटाने हेतु चर्चा के लिये नामांकित किया गया है। इस बारे में चर्चा विकिपीडिया:पृष्ठ हटाने हेतु चर्चा/लेख/काली बाई पर हो रही है। इस चर्चा में भाग लेने के लिये आपका स्वागत है।

नामांकनकर्ता ने नामांकन करते समय निम्न कारण प्रदान किया है:

मूल शोध।

कृपया इस नामांकन का उत्तर चर्चा पृष्ठ पर ही दें।

चर्चा के दौरान आप पृष्ठ में सुधार कर सकते हैं ताकि वह विकिपीडिया की नीतियों पर खरा उतरे। परंतु जब तक चर्चा जारी है, कृपया पृष्ठ से नामांकन साँचा ना हटाएँ।☆★संजीव कुमार (✉✉) 05:14, 11 अगस्त 2021 (UTC)[]

विकिमीडिया फाउंडेशन के वर्ष 2021 के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ के चुनावों में मतदान करना भूलिएगा नहीसंपादित करें

आपका Rana Nina,

यह संदेश आपको इसलिए भेजा जा रहा है क्योंकि आप विकिमीडिया फाउंडेशन के वर्ष 2021 के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ के चुनावों में मतदान करने के योग्य हैं। इस बार चुनाव 18 अगस्त, 2021 को शुरू होंगे और 31 अगस्त, 2021 को बंद होंगे। विकिमीडिया फाउंडेशन, हिन्दी विकिपीडिया जैसी परियोजनाओं का संचालन करता है और इसके संचालन की जिम्मेदारी बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ के हाथों में है। बोर्ड विकिमीडिया फाउंडेशन का निर्णय लेने वाला निकाय है। बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ के बारे में अधिक जानकारी यहां से प्राप्त करें

इस साल कम्युनिटी के वोटों के आधार पर चार सीटों का चयन किया जाएगा। इन सीटों के लिए दुनिया भर से 19 उम्मीदवार मैदान में हैं। बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज़ के वर्ष 2021 के उम्मीदवारों के बारे में अधिक जानकारी यहां से प्राप्त करें

कम्युनिटी के लगभग 70,000 सदस्यों को मतदान के लिए आमंत्रण दिया गया है। जिसमें आप भी शामिल हैं! मतदान केवल 31 अगस्त 23:59 UTC तक जारी रहेगी।

अगर आप पहले ही मतदान कर चुके हैं, तो मतदान करने के लिए धन्यवाद और कृपया इस ई-मेल को नज़रअंदाज़ करें। लोग केवल एक बार वोट कर सकते हैं, भले ही उनके पास कितने भी अकाउंट हों।

इस चुनाव के बारे में अधिक जानकारी यहां से पढ़ेंMediaWiki message delivery (वार्ता) 11:27, 26 अगस्त 2021 (UTC)[]